हवेली संगीत का एक सितारा अस्त हुआ

0
Saint Sanchora Surdas

जोधपुर। हवेली संगीत के कीर्तनिया और पखावज वादक संत सांचोरा सूरदास महाराज का मंगलवार को राजस्थान के जोधपुर में निधन हो गया। वह 106 वर्ष के थे। संस्कृत साहित्य के विद्वान, ज्योतिषाचार्य, संगीतकार सूरदास मगराज जी महाराज ने अपने चौपासनी ग्राम स्थित आवास में अंतिम सांस ली। उन्होंने अंध महाविद्यालय , देहरादून से संगीत और ज्योतिष की प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त की थी। 50 वर्षों तक उन्होंने चौपासनी के पुष्टिमार्गीय श्याम मनोहर प्रभु के मंदिर में कीर्तनिया के रूप में अपनी सेवाएँ दीं । हवेली गायकी और पखावज वादन के वे अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त कलाविद थे।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।