सेंट एमएसजी ग्लोरियस इंटरनेशनल स्कूल ने कैम्ब्रिज बोर्ड में गाड़े सफलता के झंडे

0
Saint MSG Glorious International School

छात्रा अर्शनूर कौर इन्सां ने कैम्ब्रिज बोर्ड के आई.सी.ई. में सर्वोतम ग्रेड हासिल कर मनवाया अपनी प्रतिभा लोहा

  • चार ने डिस्टिंक्शन तो चार ने ही मेरिट के साथ परीक्षा की उतीर्ण

सरसा(सच कहूँ/सुनील वर्मा)। ग्रामीण पृष्ठभूमि में अंतर्राष्ट्रीय स्तर की शिक्षण सुविधाओं से युक्त सेंट एमएसजी ग्लोरियस इंटरनेशनल स्कूल के विद्यार्थियों ने इंग्लेंड के कैम्ब्रिज बोर्ड द्वारा संचालित स्पेशल कोर्स में सफलता का परचम लहराया है। छात्रा अर्शनूर कौर इन्सां ने कैम्ब्रिज बोर्ड में कीर्तिमान स्थापित करते हुए एक ही वर्ष में नौ विषयों में परीक्षा दी और सभी में सर्वोतम ग्रेड हासिल किया। अर्शनूर कौर इन्सां के अलावा सहज, कृशिव व सिमरन नागर ने डिस्टिंक्शन तथा आयशा, सत्कार सिंह, सौगात इन्सां व अनामिका ने मेरिट के साथ परीक्षा उत्तीर्ण की। विद्यार्थियों की शानदार सफलता पर स्कूल के निदेशक प्राचार्य अभिषेक शर्मा ने बधाई देते हुए इस सफलता का श्रेय डेरा सच्चा सौदा के पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की पावन शिक्षाओं व प्रेरणाओं को दिया।

विद्यार्थी बोले गुुरुजी द्वारा बताई ध्यान विधि से बढ़ी याद्दाश्त, पाई सफलता

विद्यार्थियों ने अपनी इस उपलब्धि का श्रेय पूज्य गुरु जी को देते हुए कहा कि गुरु जी द्वारा ध्यान लगाने व याददाश्त बढ़ाने के लिए बताई गई तकनीक को अपनाकर ही वे इस मुकाम पर पहुंचे है। ध्यान से उनका मनोबल बढ़ा और पढ़ाई में रूचि बढ़ी।

अर्शनूर का माला पहनाकर किया स्वागत

नया कीर्तिमान स्थापित करने वाली छात्रा अर्शनूर कौर इन्सां का प्राचार्य सहित स्टॉफ सदस्यों द्वारा माला पहनाकर व मिठाई खिलाकर स्वागत किया गया। बता दें कि कैम्ब्रिज पाठ्यक्रम में आई.जी.सी.एस.ई. परीक्षा कक्षा-10 की बोर्ड परीक्षा के ही समकक्ष है। वहीं ए लेवल बारहवीं के समकक्ष है। सेंट एमएसजी ग्लोरियस इंटरनेशनल स्कूल के निदेशक प्राचार्य अभिषेक शर्मा ने कहा कि उनके स्कूल के 10 बच्चों ने कैंब्रिज बोर्ड द्वारा संचालित स्पेशल कोर्स आई.सी.ई. के तहत अपनी दसवीं कक्षा का पंजीकरण करवाया था। उन्होंने बताया कि इस कोर्स के अंतर्गत परीक्षा देने पर कैम्ब्रिज बोर्ड एक अलग सर्टिफिकेट प्रदान करता है। जिन्हें पास, मेरिट व डिस्टिंक्शन में वर्गीकृत किया जाता है।

उन्होंने बताया कि इस कोर्स में छात्रों को कम से कम सात विषयों की परीक्षा देनी पड़ती है और वो भी 5 अलग-अलग विषय समूह में। जिनमें भाषा समूह, गणित समूह, विज्ञान एवं तकनीकी समूह, मानविकी समूह व व्यवसाहिक समूह, जोकि सामान्यता आसान नही होता। प्राचार्य ने कहा कि खुशी की बात है कि फिर भी उनके स्कूल के 8 विद्यार्थियों ने इस परीक्षा में सफलता हासिल की। जिनमें से 4 ने डिस्टिंक्शन व इतने ही विद्यार्थियों ने मेरिट के साथ परीक्षा पास की है। उन्होंने यह भी बताया कि पूरे भारत मे कैंब्रिज से मान्यता प्राप्त लगभग 400 से अधिक स्कूल है, जिनमें सेंट एमएसजी ग्लोरियस इंटरनेशनल स्कूल की छात्रा अर्शनूर कौर इन्सां ने एक अद्भूत रिकॉर्ड कायम किया है।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।