Breaking News

जीवन में आगे बढ़ना है तो करें माता-पिता व बुजुर्गों का सम्मान: डॉ. पूनिया

To move forward in life, please respect parents and the elderly
  • शाह सतनाम जी गर्ल्ज स्कूल में ‘एक भी दिन है नहीं मां के बिन’ विषय पर कार्यक्रम आयोजित

  • ‘लुका-छुपी बहुत हुई’ मधुर गीत गाकर छात्राओं ने किया अतिथिगणों का स्वागत
  • बच्चों संग माताओं ने भी सांस्कृतिक कार्यक्रम में दी प्रस्तुति

सरसा (सच कहूँ न्यूज)। शाह सतनाम जी गर्ल्ज स्कूल में ‘एक भी दिन है नहीं मां के बिन’ विषय पर  छात्राओं की माताओं के लिए कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसका शुभारंभ प्राचार्या डॉ़ शीला पूनिया ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। जिसके बाद छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति देकर दर्शकों को भावुक कर दिया। इस दौरान प्राचार्या डॉ़ शीला पूनिया ने आए हुए अतिथिगणों व छात्राओं की माताओं का आभार प्रकट करते हुए कहा कि इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य बच्चों में माता-पिता के प्रति संस्कार जागृत करना है।

उन्होंने कहा कि आज इंसान हर क्षेत्र में आगे बढ़ गया है लेकिन बात अगर नैतिकता व संस्कारों की करें तो कहीं न कहीं उनकी कमी नजर आती है। इसलिए जीवन में आगे बढ़ने के लिए शिक्षा के साथ बड़े बुजुर्गों वह माता-पिता का सम्मान व इंसानियत की सेवा बहुत जरूरी है। अंत में कार्यक्रम समापन के दौरान प्राचार्या ने विजेता बच्चों व उनकी माताओं को पुरस्कार देकर सम्मानित किया।

राजस्थानी गीत ‘‘घुमर’’ पर थिरक छात्राएं

कार्यक्रम में सर्वप्रथम भुमिशा तेजस्वनी अनिशा ने ‘लुका-छुपी बहुत हुई’ मधुर गीत से आए हुए सभी
अतिथिगण व माताओं का स्वागत किया। जिसके बाद प्री-नर्सरी के छोटे-छोटे बच्चों रीना, सरगम, गे्रसी, अशमीत, सुखलीन आदि ने मनमोहक मुद्रा में मॉडलिंग कर सबका मन मोह लिया। रहमत, शगुन, निशा, अंशदीप आदि ने ‘‘घुमर’’ राजस्थानी गीत पर नृत्य किया। वहीं 8वीं कक्षा की कमलप्रीया, तृप्ति, मानया ने ‘मां’ पर नाटिका प्रस्तुत कर सभी को भावुक कर दिया। ‘‘पीक दा थर्माकॉल वीद स्ट्रा’’ गेम में विदुषी, शगुन, अभि, प्रीकांशी व सुखमन ने स्केट पर ‘‘वंदे मातरम्’’ देशभक्ति गीत पर नृत्य कर सभी को आश्चर्यचकित कर दिया।

माताओं ने भी मंच पर दिखाई प्रतिभा

बच्चों के कार्यक्रम में माताओं ने भी अपनी प्रतिभा को प्रस्तुत कर ये बता दिया कि वे भी किसी से कम नहीं है। मंच पर सिमरण, कमाक्षी, क्रीश्लिया, पायल आदि बच्चों ने अपनी माताओं के साथ मॉडलिंग प्रस्तुत की। ‘‘सेपरट दा मार्बल’’ गेम में भी माताओं ने शानदान प्रस्तुति दी। जिसके बाद 6वीं कक्षा की करिश्मा, अनमोल, अशमीत, नैंसी आदि छात्राओं ने ‘‘पिताजी मनैं भावै स’’ हरियाणवीं गीत पर नृत्य पेश किया। अंत में अक्षदीप, इशिका, अशमीत, रिद्घिमा ने पंजाबी नृत्य प्रस्तुत कर मंच पर जलवा बिखेरा।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top