पंजाब

पटियाला : डेरा श्रद्धालु सागर अरोड़ा ‘राष्ट्रीय अवार्ड’ से सम्मानित

Honored

सागर अरोड़ा की ओर से अपनी 27 साल की उम्र में 37वीं बार रक्त व डेंगू पीड़ित मरीजों के लिए प्लेटलैट्स सैल दान कर चुका है।
इसके साथ वह जिला पटियाला में लगने वाले रक्तदान कैंपों के द्वारा आम लोगों को भी जागरूक का संदेश दे रहा है।

पिछले कई वर्षां से डेरा सच्चा सौदा के साथ जुड़े हुए हैं सागर अरोड़ा | Honored

  • आईएसबीटीआई संस्था ने किया सम्मानित
  • सागर अरोड़ा अपनी 27 साल की उम्र में 37वीं बार रक्त व
  • डेंगू पीड़ित मरीजों के लिए प्लेटलैट्स सैल कर चुका है दान

पटियाला(खुशवीर सिंह तूर)। पटियाला शहर के समाज सेवक सागर अरोड़ा को रक्तदान (Honored) के क्षेत्र में से आईएसबीेटीआई संस्था की ओर से राष्ट्रीय ऐचडीसोरी अवार्ड से सम्मानित किया गया। सागर अरोड़ा को अवार्ड मिलने का मुख्य कारण कि वह पिछले 7 सालों में रक्तदान की सेवा कर रहे हैं। जब कोई अपना भी अपना रक्त नहीं देता तो उस जगह पहुंचकर सागर अरोड़ा ने रक्तदान कर रक्त की जरूरत को पूरा किया है। इसके साथ ही वह मरीजों को रक्त मुहैया करवाने में अहम भूमिका निभाते है। सागर अरोड़ा की ओर से अपनी 27 साल की उम्र में 37वीं बार रक्त व डेंगू पीड़ित मरीजों के लिए प्लेटलैट्स सैल दान कर चुका है।

इसके साथ वह जिला पटियाला में लगने वाले रक्तदान कैंपों के द्वारा आम लोगों को भी जागरूक का संदेश दे रहा है। इन सभी समाज भलाई गतिविधियों को देखते इंडियन सोसायटी आॅफ ब्लड ट्रांसफ्यूजन इंमीन्योमटूलजी (आईएसबीटीआई) के प्रधान डॉ. युधवीर सिंह की ओर से राष्ट्रीय एचडीसोरी अवार्ड देकर नवाजा गया है। इस समारोह में पूरे देश और विदेश डॉक्टरों और समाजसेवी लोगों ने शिरकत की। उल्लेखनीय है कि सागर अरोड़ा को 15 अगस्त 2019 को जिला प्रशासन की ओर से अवार्ड देकर नवाजा गया है।

पूज्य गुरू जी से मिली मानवता भलाई के कार्य करने की प्रेरणा : अरोड़ा

  • उल्लेखनीय हैकि सागर अरोड़ा पिछले कई सालों से डेरा सच्चा सौदा के साथ जुड़ा हुआ है
  • और यदि किसी को आधी रात को भी रक्त की जरूरत पड़ती है
  • तो वह उसी समय रक्त का प्रबंध कर उक्त मरीज के पास पहुंच जाता है।
  • इस मौके सागर अरोड़ा ने बताया कि उसको यह प्रेरणा
  • डेरा सच्चा सौदा के पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां जी से मिली है,
  • जिसके अंतर्गत ही वह समाज सेवा दिन रात लगे हुए हैं।
  • उन्होंने कहा कि किसी भी जरूरतमंद मरीज को खून की कमी महसूस नहीं होने देंगे।
  • इस मौके डॉ. कुलवीर कौर प्रिंसिपल मेडीकल कॉलेज जालंधर, डॉ. रिमप्रीत सिंह वालिया,
  • समाज सेवीं जतविन्दर ग्रेवाल सहित अन्य कई गणमान्यजन मौजूद थे।

सागर अरोड़ा ने रक्तदान के क्षेत्र में बनाई अलग पहचान : वालिया

45 मैंबर हरमिन्दर नोना और डॉ. रिमप्रीत सिंह वालिया ने कहा कि सागर अरोड़ा की ओर से कई सालों से रक्तदान के क्षेत्र में अलग पहचान बनाई गई है। उन्होंने कहा कि अवार्ड मिलने पर सागर अरोड़ा में ओर जज्बा पैदा होगा और समाज सेवा में वह ओर भी बुलन्दियों को छूएंगे।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करे।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top