…अफसोस है उन पर जो सत्ता में बैठकर भी लाचार हैं : लालू

0
Lalu Prasad Yadav

पटना। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने जन्मदिन की बधाई देने वालों को धन्यवाद ज्ञापित करने के बहाने प्रवासी श्रमिकों को लेकर एक बार फिर बिहार की नीतीश सरकार पर हमला बोला और कहा, “मुझे अफसोस होता है उनपर, जो आजाद हैं, सत्ता में बैठकर भी लाचार हैं।”

बहुचर्चित चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता यादव के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर शुक्रवार को उनका एक पत्र जारी किया गया, जिसमें उन्होंने कहा, “आज मेरे बिहारवासी सदमे में हैं, दुख में हैं, सुविधाओं के अभाव में जी रहे हैं, सड़कों पर पैदल चल रहे हैं, भूख से मर रहे हैं तो मेरा मन अथाह पीड़ा का अनुभव कर रहा है। जब सुनता हूं रोते हुए मजदूरों की व्यथा, महसूस करता हूं उनके आंखों के आंसू तो लगता है कि अपने अंदाज में कहूं ‘काहे फिक्र करता है, हम हैं न साथ में’ लेकिन हालात से मजबूर हूं, साजिशों की बेड़ियों में जकड़ा हूं। मुझे अफसोस होता है उनपर जो आजाद हैं, सत्ता में बैठकर भी लाचार हैं। उन्हें कैसे नींद आ रही होगी, कैसे खाना खाया जाता होगा।”

Lalu Prasad Yadav

यादव ने उनके मजाकिया अंदाज पर विरोधियों के कटाक्ष पर कहा कि जीवन भर विरोधी यह कहते रहे कि लालू हंसी-मजाक करता है, संजीदा नहीं होता। लेकिन बिहारवासियों से आज कहना चाहते हैं कि वह जीवन भर अपने दिमाग से हर वो प्रयत्न संजीदा होकर करते रहे, जो गरीब, दलित, शोषित, वंचित और पिछड़े भाइयों का हक दिलाएं, उनके जीवन को ऊपर उठाएं। उनकी हमेशा यही कोशिश रही कि बिहारवासी हमेशा हंसते और मुस्कुराते रहें। उनकी एक बात सुनकर जब सामने खड़े लाखों लोग हंस देते हैं तो विरोधियों के सारे आरोप और तमगे उन्हें बेमानी लगने लगते हैं।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।