साध-संगत ने जरूरतमंद परिवार को बनाकर दिया ‘आशियाना’

0
Humanity-work,

सराहनीय प्रयास। प्रीतम कौर की खस्ताहाल मकान की चिंता हुई खत्म (Humanity work)

  •  पक्की और नयी छत मिलने पर प्रीतम कौर ने पूज्य गुरू जी व साध-संगत को तहदिल से किया धन्यवाद

सच कहूँ/सुखनाम बठिंडा। महानगर बठिंडा के क्षेत्र बंगी नगर में रहने वाली प्रीतम कौर को अब खराब मौसम का डर नहीं सताएगा। पहले जब आसमान में बादल छा जाते थे तो उसे घर की खराब छत नीचे दिन गुजारने मुश्किल हो जाते थे। अपनी बीमार बेटी के साथ खस्ताहाल मकान में रह रही बुजुर्ग महिला की इस समस्या का पता जब डेरा सच्चा सौदा के स्थानीय जिम्मेवारों को चला तो उन्होंने उसका मकान नये सिरे से बना कर देने का फैसला किया। मकान बनाने के इस कार्य में साध-संगत ने पूरे उत्साह से हिस्सा लिया।

पारिवारिक सदस्य घर में जमा हुए पानी को बर्तनों की सहायता से बाहर निकाल रहे थे

इस संबंधी जानकारी देते ब्लॉक बठिंडा के एरिया दीप सिंह नगर के भंगीदास सतवीर सिंह वालिया इन्सां ने बताया कि पिछले दिनों बठिंडा में भारी बारिश और औलावृष्टि हुई थी। इसी दौरान उनका माता प्रीतम कौर पत्नी स्व. करतार सिंह के घर आना हुआ तो पता चला कि वह बहुत ही खस्ताहाल मकान में रह रही थी। बारिश कारण घर की छत टपक रही थी और बिस्तरे आदि पानी के साथ भरे हुए थे। पारिवारिक सदस्य घर में जमा हुए पानी को बर्तनों की सहायता से बाहर निकाल रहे थे। लगभग 30 -35 साल पुराने इस खस्ताहाल घर की छत झुकी हुई होने के कारण बिल्कुल भी रहने के योग्य नहीं थी, क्योंकि वह किसी समय पर भी गिर सकती थी। उन्होंने अन्य जिम्मेवार सेवादारों के साथ बिना किसी देरी के मकान बनाने की सलाह की

साध-संगत और सेवादारों ने रविवार को विनती का शब्द बोल कर मकान बनाने की शुरूआत की। इस दौरान 5 मिस्त्री और लगभग 45 सेवादारों ने मकान बना कर उक्त महिला को सौंप दिया। भंगीदास वालिया ने बताया कि परिवार की आर्थिक स्थिति को देखते लगभग पिछले डेढ़ साल से राशन का प्रबंध भी प्रेमी हरपिन्दर सिंह की ओर से लगातार किया जा रहा है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।