साध-संगत ने मनोहर लाल इन्सां की मृतक देह को बाजाखाना-बरनाला सड़क पर रख कर लगाया धरना

0
Sadh-sangat put the dead body of Manohar Lal Insan by placing it on the Bajakhana-Barnala road

दोषियों की गिरफ्तारी तक नहीं होगा संस्कार 

  • प्रशासन आज फिर करेगा डेरा सच्चा सौदा की कमेटी के साथ बैठक

सच कहूँ/सुरेन्द्रपाल बठिंडा/सलाबतपुरा। कस्बा भगता भाईका में बीती शाम को दो अज्ञात लोगों ने अपनी दुकान में बैठे डेरा श्रद्धालु (Manohar Lal insan) मनोहर लाल इन्सां (55) की गोलियां मारकर हत्या मामले को लेकर साध-संगत में भारी रोष पाया जा रहा है। शनिवार सुबह पोस्टमार्टम के बाद उनकी मृतक देह को बठिंडा के सिविल अस्पताल से डेरा सच्चा सौदा की ब्रांच शाह सतनाम जी रूहानी धाम डेरा राजगढ़ सलाबातपुरा लाया गया जहां बाजाखाना-बरनाला सड़क पर शव रखकर साध-संगत ने धरना लगा दिया। साध-संगत ने मांग रखी कि जब तक दोषियों को गिरफ्तार नहीं किया जाता, तब तक धरना जारी रहेग।

शनिवार बाद दोपहर मनोहर लाल इन्सां की मृतक देह को बाजाखाना-बरनाला सड़क पर रखकर लगाए गए धरने में बड़ी संख्या में साध-संगत इकट्ठी हो गई। इस दौरान एसएसपी बठिंडा भूपेन्द्रजीत सिंह विर्क भी पुलिस पार्टी के साथ पहुंचे और जिम्मेवारों व परिवार के साथ बातचीत की। इस दौरान जिम्मेवारों ने उन्हें स्पष्ट कहा कि जब तक दोषियों की गिरफ्तारी नहीं होती तब तक अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा।

पंजाब में डेरा श्रद्धालुओं की हत्या की यह सातवीं घटना

धरने दौरान संबोधित करते हुए पंजाब जिला समिति के 45 मैंबर हरचरन सिंह इन्सां ने कहा कि पंजाब में डेरा श्रद्धालुओं की हत्या की यह सातवीं घटना है। उन्होंने कहा कि प्रशासन द्वारा हर बार इंसाफ दिलवाने का भरोसा दिया जाता है लेकिन बाद में कोई कार्रवाई नहीं होती। हरचरन सिंह ने कहा कि एक साजिश के तहत पावन श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी की घटना को डेरा श्रद्धालुओं के सिर मढ़ा गया और इसी आड़ में महेन्द्रपाल बिट्टू पर जमकर अत्याचार किए गए और बाद में उनकी जेल में ही हत्या करवा दी। उन्होंने कहा कि वे आखिर कब तक यह बर्दाश्त करते रहेंगे।

संबोधन दौरान उन्होंने कहा कि समाज विरोधी तत्व, जो पंजाब को आग में फूंकना चाहते हैं यदि उन पर नकेल नहीं कसी गई तो प्रदेश का बड़े स्तर पर नुक्सान होगा। साध-संगत को सड़कों पर बैठने का कोई शौक नहीं है। उन्होंने ऐलान किया कि जब तक पुलिस दोषियों को गिरफ्तार नहीं करती तब तक धरना जारी रहेगा। समाचार लिखे जाने तक साध-संगत धरने पर डटी हुई थी। इस मौके पर डेरा सच्चा सौदा के सीनियर वाइस चेयरमैन जगजीत सिंह इन्सां, साध-संगत राजनीतिक विंग के मैंबर बलजिन्द्र सिंह बांडी, बलराज सिंह बाहो, परमजीत सिंह नंगल, अवतार इन्सां, रवि इन्सां, 45 मैंबर संतोष इन्सां, बलदेव कृष्ण, हरिन्द्र मंगवाल और जतिन्द्र महाशा आदि उपस्थित थे।

गहराई से जांच जारी है: आईजी

बठिंडा रेंज के आईजी जसकरण सिंह का कहना है कि उन्होंने एसएसपी बठिंडा भूपेन्द्रजीत सिंह विर्क को मौके की स्थिति पर भेजा है, जो मौजूद व्यक्तियों के साथ बात कर रहे हैं। आईजी ने कहा कि इस घटना की पुलिस टीमें पूरी गहराई से जांच कर रही हैं और वे खुद भी इस मामले पर पूरी नजर रखे हुए हैं। उन्होंने कहा कि दोषियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

आंखों से बह रहे आंसू

जैसे ही डेरा श्रद्धालु मनोहर लाल इन्सां की मृतक देह वाली गाड़ी सलाबतपुरा पहुंची तो परिवारिक सदस्यों व साध-संगत की आंखों से आंसू बह चले, जो रोके भी रूक नहीं रहे थे। हर श्रद्धालु यही कह रहा था कि जुल्म के खिलाफ डटने वाले पंजाब में आज निर्दोष व भलाई करने वालों पर जुल्म ढहाया जा रहा है। श्रद्धालुओं का दर्द उनकी जुबान की अपेक्षा उनके आंसू ब्यान कर रहे थे। दर्द भरे शब्दों में सरकार को जुल्म के खिलाफ चुप रहने का उलाहना भी दिया जा रहा था।

कल दोबारा बातचीत करेंगे: एसएसपी

एसएसपी भटिंडा भूपेन्द्रजीत सिंह विर्क का कहना था कि उन्होंने डेरा प्रबंधकों के साथ बैठक की थी, लेकिन फिलहाल सफलता नहीं मिली। उन्होंने बताया कि रविवार को दोबारा बातचीत करेंगे। उन्होंने दावा किया कि पुलिस पूरी गंभीरता से जांच में जुटी हुई है व उम्मीद है कि दोषियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।