पंजाब: साध-संगत ने किया 33 यूनिट रक्तदान

0
Blood-Donation

सराहनीय प्रयास। सेवादारों की थैलेसीमिया पीड़ितों के लिए रक्तदान मुहिम जारी (Blood Donation)

संगरूर/लोंगोवाल( गुरप्रीत सिंह /कृष्ण लौंगोवाल)। विश्व भर में फैली करोना महामारी बीमारी और लाकडाऊन दौरान जहां लोगों में अस्पताल जाने का भी डर बना हुआ है, वहीं ही पिछले कई दिनों से डेरा सच्चा सौदा के श्रद्धालुओं की ओर से थैलीसीमिया के मरीजों के लिए खूनदान मुहिम लगातार जारी है। आज संगरूर के सरकारी अस्पताल में ब्लॉक लोंगोवाल के शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैल्लफेयर फोर्स विंग के सदस्यों की ओर से गतदिवस 33 यूनिट रक्तदान किया गया। सिविल अस्पताल के डॉक्टरों की ओर से डेरा प्रेमियों की पुरजोर प्रशंसा की गई।

सरकारी अस्पतालों में थैलेसीमिया के मरीजों को खून की बहुत बड़ी कमी हो रही थी

इस मौके ब्लाक लोंगोवाल के ब्लाक भंगीदास रूप सिंह, स्योपाल चीमा, प्रेम कुमार, सुरजन सिंह और संगरूर से राजिन्दर कालडा, कृष्ण थरेजा, लाभ इन्सां, जगतार सिंह, भुपिन्दर शर्मा और शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैल्फेयर फोर्स विंग के सदस्यों ने बताया कि सरकारी अस्पतालों में जहां थैलेसीमिया के मरीजों को खून की बहुत बड़ी कमी हो रही थी क्योंकि सरकारी अस्पतालों के ब्लड बैंकों में रक्त बिलकुल ही खत्म हो चुका था, जिससे थैलेसीमिया के पीडितों की जान को बहुत बड़ा खतरा था, जिसे मुख्य रखते हुए डेरा श्रद्धालुओं की तरफ से लगातार खूनदान किया जा रहा है और साध-संगत की तरफ से 33 यूनिट रक्तदान किया गया।

सिविल अस्पताल संगरूर में फामेर्सी अधिकारी सुखविन्दर बबला के साथ बातचीत करते उन्होंने बताया कि इस भयानक महामारी कोरोना बीमारी के दौर में डेरा प्रेमी रक्तदान कर रहे हैं जो बहुत ही प्रशंसनीय प्रयास है। सिविल अस्पताल के एसएमओ डॉ. कृपाल सिंह ने कहा कि अस्पताल के ब्लड बैंक में खून की बहुत ही अधिक जरूरत है, जिसे लेकर 45 मैंबरों के साथ बात करने पर उनकी तरफ से डेरा सच्चा सौदा दरबार में बातचीत की गई और 8 मई से इस खूनदान की मुहिम को शुरू किया गया जब कि इस महामारी के भयानक समय में लोग बहुत डरे हुए थे। जब कि प्रेमियों की तरफ से पूरे उत्साह से खूनदान किया जा रहा है।

थैलीसीमिया पीडित बच्ची के पिता ने डेरा श्रद्धालुओं का किया धन्यवाद

सरकारी अस्पताल में चल रहे खूनदान मौके थैलेसीमिया से पीड़ित बच्ची के पिता राम तिलक राय जो संगरूर के निवासी हैं, उनके साथ बातचीत दौरान उन्होंने बताया कि मेरी बच्ची के लिए डेरा सच्चा सौदा की साध-संगत किसी फरिश्ते से कम नहीं क्योंकि मेरी नन्न्ही सी बच्ची 9 सालों से इस भयानक थैलेसीमिया की बीमारी के साथ लड़ रही है, जिसे अक्सर खून की जरूरत पड़ती रहती है और आज भी इसे खून चढ़ाया जा रहा है और डेरा सच्चा सौदा की साध-संगत की ओर से कभी भी खून देते समय कभी जवाब नहीं मिला। धन्य है इनके गुरू पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां जो प्रेमी उनके बताए मार्ग पर चल रहे हैं और हम साध संगत का तहदिल से धन्यवाद करते हैं।

संगरूर में 8 मई से चल रहे रक्तदान का विवरण

संगरूर और बलवान ब्लॉक की ओर से : 102 यूनिट
सुनाम उधम सिंह वाला ब्लॉक की ओर से : 40 यूनिट
लौंगोवाल ब्लाक की ओर से : 33 यूनिट

सिविल अस्पताल में रक्तदानियों में देखने को मिला भारी उत्साह

शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैल्लफेयर फोर्स विंग के मैंबर रघबीर सिंह इन्सां चीमा मंडी की ओर से लगातार 27 वीं बार आज खूनदान किया गया और बलवंत सिंह इन्सां लौंगोवाल की ओर से 21वीं बार और हरप्रीत सिंह गग्गी की ओर से 16वीं बार और डॉ. सुखदेव सिंह की तरफ से 15 वीं बार, बलविन्दर सिंह की तरफ से उसके जन्म दिन मौके 11वीं बार, बलविन्दर सिंह की ओर से 15 वीं बार और मास्टर राम कृष्ण की ओर से 15 वीं बार रक्तदान किया गया।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।