राजस्थान

डिग्गियों में नहीं रहा पेयजल, ग्रामीण परेशान

Rural, Distress, Drinking Water, Rajasthan

सूखी डिग्गियों से कैसे मिलेगा गांवों को पेयजल

अनूपगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। तहसील क्षेत्र के गांव पतरोड़ा के ग्रामीणों को इन दिनों में पेयजल के लिए भयंकर मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है। जैसे-जैसे गर्मी का मौसम आगे बढ़ता जा रहा है, वैसे-वैसे ही पेयजल का संकट गहराता जा रहा है। ग्राम पंचायत मुख्यालय पतरोड़ा क्षेत्र में मुख्यालय के अलावा आस-पास अनेक चक तथा ढाणियां भी हैं जिनकी आबादी को ग्राम पंचायत के ही वाटर-वर्क्स से पेयजल की आपूर्ति दी जाती है, परंतु जलदाय विभाग एवं प्रशासन की उदासीनता ने ग्रामीणों को दी जाने वाली पेयजल सुविधा पर सवालिया निशान खड़े कर दिए हैं।

हालांकि डिग्गियों में पानी समाप्त होने से पूर्व कुछ समय तक पानी ग्रामीणों को दिया गया, लेकिन यह पानी स्वच्छ एवं शुद्ध नहीं था। वर्तमान हालात ग्रामीणों के लिए चिंताजनक बने हुए हैं, खासकर महिलाओं के लिए, क्योंकि महिलाआें को घर से दूर मटकों में पानी लेने जाना पड़ता है, जोकि परेशानी का विषय है।

डिग्गियों में नहीं है पानी

क्षेत्र के इस बड़े एवं महत्वपूर्ण गांव में पिछले तीन दिनों से पेयजल सप्लाई पानी के अभाव में नहीं हो पा रही है, जिससे ग्रामीणों को दिक्कत हो रही है। मिली जानकारी के अनुसार ग्रामीण जब पेयजल सप्लाई नहीं होने का कारण जानने के लिए वाटर वर्क्स गए तो वहां जाकर पता चला कि वाटर-वर्क्स की डिग्गियां काफी हद तक खाली हो चुकी है, जो भी पानी बचा हुआ है, उसमें कचरा एवं गंदगी है, जो सप्लाई योग्य नहीं है।

डिग्गियों में नहीं हो पाता पूर्ण रूप से भंडारण

ग्राम पंचायत के वाटर वर्क्स में नहरबंदी के दौरान जल एकत्रित करने के लिए 3 डिग्गियां बनी हुई हैं जो नहर चलने पर जल भंडारण के लिए इस्तेमाल होती है। लेकिन इन डिग्गियों में पूर्ण रूप से पानी का भंडारण नहीं हो पाता है। क्योंकि डिग्गियों को भरने के लिए नहर से वाटर-वर्क्स तक बनी नाली काफी हद तक क्षतिग्रस्त हो चुकी है, जिससे पानी सही मात्रा में डिग्गियों तक नहीं पहुंच पाता है। जिसके कारण डिग्गियां पूरी तरह से भर नहीं पाती और जिसका नुक्सान ग्रामीणों को उठाना पड़ता है। ग्रामीणों के अनुसार डिग्गियों की मुरम्मत हुए कई वर्ष हो चुके हैं। क्षतिग्रस्त हो चुकी डिग्गियों की मुरम्मत की बड़े पैमाने पर आवश्यकता है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top