हरियाणा

पात्रों के लिए सिरदर्द बनी सोशल मीडिया पर फैली अफवाह

Rumor spread over headlines on social media for the characters

पेंशन बनवाने अस्पताल पहुंचे लोग

सरसा सच कहूँ/सुनील वर्मा। सोशल मीडिया पर 5 दिसंबर को नागरिक अस्पताल में पेंशन बनवाने के लिए पहुंचने की एक अफवाह ने पेंशन बनवाने आए सैकड़ों लोगों परेशानी झेलनी पड़ी। अस्पताल में सुबह ही उमड़ी लोगों की भीड़ को देखकर सीएमओ ने अस्पताल में इस प्रकार की किसी सूचना से इनकार का नोटिस अस्पताल में चस्पा किया। अस्पताल के कर्मचारियों ने पेंशन बनवाने आए लोगों को यहां की बजाय समाज कल्याण विभाग में ही जाने की बात कही। ठंड के बावजूद सुबह-सवेर अस्पताल में पेंशन न बनने की सूचना पर पेंशन बनवाने आए लोग अपने आप को ठगा सा महसूस कर समाज कल्याण विभाग की ओर रूख कर गए। मामले के अनुसार तीन दिन पूर्व सोशल मीडिया पर किसी ने मैसेज डालकर अफवाह फैलाईे कि आगामी 5 दिसंबर को नागरिक अस्पताल में जो व्यक्ति पेंशन बनवाने की शर्तें पूरी करते हैं। वे अस्पताल में आकर अपनी जांच करवा सकते हैं।

हालांकि अगले दिन समाज कल्याण विभाग व सीएमओ सरसा की ओर से इस सूचना का खंडन किया गया था। विभाग की ओर से बकायदा ये कहा गया था कि पेंशन बनवाने के लिए पात्र लोग सीधे अस्पताल में जाने की बजाय समाज कल्याण विभाग में पहुंचे। यहां से वेरीफिकेशन के बाद पात्र लोगों को एक पत्र बनाकर दिया जाएगा। जिसे अस्पताल में दिखाकर वे अपनी जांच करवा सकते हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में इस सूचना बारे लोगों को जानकारी न मिलने पर ग्रामीण सुबह 8 बजे से ही अस्पताल परिसर में एकत्रित होना शुरू हो गए।

लोगों की सूचना पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता होशियारी लाल शर्मा पहुंचे अस्पताल:

सोशल मीडिया पर फैलाई गई अफवाह ने जिला भर के बुजुर्ग, दिव्यांग, महिला-पुरुषों को बुधवार की सुबह सांसत में डाल दिया। लोगों की सूचना पर होशियारी लाल शर्मा भी नागरिक अस्पताल पहुंचे। शर्मा ने बताया कि किसी ने सोशल मीडिया पर झूठी अफवाह फैलाकर आपके साथ शरारत की है। शर्मा ने अधिकारियों से बातचीत कर बुजुर्गों से कहा कि अगर आप पेंशन लेने के पात्र हैं तो संबंधित विभाग के अधिकारी से ही मिलें। जिसके बाद लोग निराश होकर चले गए।

‘‘सोशल मीडिया पर आई न्यूज का उन्होेंने समाज कल्याण विभाग से खंडन करवा दिया था। ग्रामीण लोगों को जानकारी नहीं होेने के कारण वे नागरिक अस्पताल में पहुंच गए। लोगों को यहां से समझाकर समाज कल्याण विभाग में भेजा गया है। बकायदा नोटिस भी अस्पताल परिसर में चस्पाया गया।

-डा. गोबिंद गुप्ता, सीएमओ सरसा।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top