खुलासा: कपास खरीद में कटौती के नाम पर लाखों का गबन

0
Revealed Embezzlement of lakhs in the name of cuts in cotton purchases

प्रति क्विंटल पर की जा रही थी दो किलोग्राम की कटौती (Embezzlement of Lakhs)

  • खरीद एजेंसी सीसीआई के सेल्स मैनेजर पर 47 लाख की धोखाधड़ी का आरोप

  • मार्केट कमेटी सचिव ने केस दर्ज करने के लिए एसपी को लिखा पत्र

चरखी दादरी(सच कहूँ न्यूज)। कपास की एमएसपी रेट पर खरीद के दौरान खरीद एजेंसी द्वारा वजन में कटौती करते हुए करीब 47 लाख रुपए का (Embezzlement of Lakhs) गबन किया गया है। इसका खुलासा किसानों द्वारा मिलों के कांटों पर वजन करने की शिकायत पर हुआ है। मार्केट कमेटी के अधिकृत कांटों की बजाए बाहर से वजन करने व नमी के नाम पर कटौती की जा रही थी। ऐसे में मार्केट कमेटी अधिकारियों ने खरीद एजेंसी मैनेजर पर केस दर्ज करने व सीआईए द्वारा जांच करवाने बारे एसपी को लेटर लिखा है। बता दें कि चरखी दादरी जिले में 10 अक्तूबर से कपास की एमएसपी रेट पर खरीद शुरू की गई थी। जो कॉटन कारपोरेश ऑफ़ इंडिया (सीसीआई) द्वारा खरीद की जा रही है। खरीद के दौरान कपास की वजन करने के लिए मार्केट कमेटी द्वारा मंडी में स्थित कांटों को ही अधिकृत किया गया था। बावजूद इसके खरीद एजेंसी अधिकारियों द्वारा कपास का वजन मिल मालिकों से मिलकर बाहर मिलों में करवाया गया। जहां वजन के दौरान किसानों से प्रति क्विंटल दो किलोग्राम की कटौती की गई।

क्या कहते हैं जिला कार्यकारी अधिकारी श्याम सुंदर

मार्केट कमेटी के जिला कार्यकारी अधिकारी श्याम सुंदर ने बताया कि कपास खरीद के दौरान अधिकृत कांटों की बजाए बाहर के काटों से वजन करवाते हुए प्रति क्विंटल दो किलोग्राम की कटौती की है। ऐसे में मैनेजर द्वारा धोखाधड़ी करते हुए 47 लाख 5 हजार 905 रुपए का नुकसान सरकार व किसानों को पहुंचाया है। इस मामले में कार्रवाई करने के लिए एसपी को लेटर लिखा है। साथ ही मुकदमा दर्ज करने की मांग की है।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।