बाजार उम्मीदों से बेहतर रहे रिलायंस इंडस्ट्रीज के नतीजे

0
Reliance Industries results were better than market expectations
नयी दिल्ली l मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के पेट्रो कैमिकल कारोबार पर चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में पिछले साल की इसी अवधि के मुकाबले वैश्विक महामारी कोविड-19 का प्रभाव जरुर रहा किंतु समूह की अन्य कंपनियों ने विश्लेषकों और बाजार के पंडितों के अनुमानों को झुठलाते हुए शानदार कारोबार और शुद्ध लाभ में जोरदार वृद्धि हासिल की। आरआईएल ने शुक्रवार देर रात 2020-21 की दूसरी तिमाही के घोषित नतीजों में 9,567 करोड़ रू का शुद्ध लाभ अर्जित। हलांकि यह पिछले वर्ष की इसी तिमाही से 15 फीसदी कम है किंतु बाजार विश्लेषकों से कहीं बेहतर है।
कंपनियों के कारोबार पर विश्लेषण करने वाली प्रमुख ब्लूमबर्ग के विश्लेषकों की राय में रिलायंस का मुनाफा करीब 9,017 करोड़ रुपये रहने का अनुमान लगाया गया था। इसके उलट कंपनी का कंसोलिडेटिड शुद्ध लाभ एक बार फिर 10,000 करोड़ रुपये का आंकड़ा पार कर गया जो कंसोलिडेटिड शुद्ध लाभ। कंसोलिडेटिड शुद्ध लाभ पिछली तिमाही के मुकाबले 28 प्रतिशत बढ़कर 10,602 करोड़ रुपये रहा । मुकेश अंबानी के नये कारोबार वाली रिलायंस रिटेल और जियो प्लेटफॉर्म्स शानदार प्रर्दशन के दम पर रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंसोलिडेटिड आय 27.2 प्रतिशत की मजबूत क्रमिक वृद्धि के साथ तिमाही में 1,28,285 करोड़ रुपये रही।कोविड-19 के कारण उपजी परिस्थितियों में दुनिया भर में ईंधन की मांग और कच्चे तेल की कीमतों में जबर्दस्त गिरावट दर्ज की गई थी। इसका असर रिलायंस के ऑयल एंड गैस कारोबार पर भी पड़ा। कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित जून तिमाही के मुकाबले सितंबर तिमाही के कंसोलिडेटिड शुद्ध लाभ में 28 फीसदी का उछाल देखने को मिला। रिलायंस जियो ने रिलायंस समूह की सभी कंपनियों में सबसे जोरदार नतीजे दिये।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।