राज्य

फर्जी दस्तावेजों के आधार पर रजिस्ट्री करवाते 4 काबू, 3 फरार

Fake Documents

फर्जी दस्तावेजों(Fake Documents)के आरोपियों में 3 नंबरदार शामिल

नारायणगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। फर्जी दस्तावेजों(Fake Documents) के आधार पर लाखों रूपए की जमीन की रजिस्ट्री करवाने आए 4 लोगों को पुलिस ने गिरफतार किया है। इनमें एक महिला भी शामिल है। मामले का मास्टर मांइंड और 2 नंबरदार फरार होने में कामयाब हो गए हैं। जमीन मालिक की शिकायत पर पुलिस ने छ: लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

रतन लाल पुत्र घसीटा राम निवासी गांव रतनगढ़ जिला अम्बाला ने थाना नारायणगढ में एक शिकायत देकर बताया कि उसने व उसके भाईयों ने वर्ष 1995 में गांव कुराली थाना नारायणगढ़ में 12 एकड जमीन खरीदी थी। जिसका इंतकात उसके व उसके भाईयों को नाम हो गया था। अब यह जमीन उन्होने तहसील नारायणगढ़ में आपस में तकसीम करवा ली थी। इस जमीन में से 6 एकड़ जमीन उसके नाम है।

24 अगस्त को उसे पता चला कि नरेश कुमार व उमेद सिंह पुत्र कर्ण सिंह निवासी गांव बधौली मिलकर उसकी जमीन को धोखाधड़ी से हडपने के लिए बरगत राम पुत्र खान चन्द निवासी बनूड जिला मोहाली पंजाब को नकली विक्रेता रतनलाल बनाकर तथा उसके नाम से नकली आधार कार्ड बनाकर जमीन की रजिस्ट्री संतोष कुमारी पत्नी राजेन्द्र कुमार निवासी मौली के नाम करवा रहे हैं। उन्होने 23 अगस्त को स्टाम्प डयूटी जमा करवाकर उसकी तीस कनाल 16 मरले भूमि की जाली रजिस्ट्री लिखवा ली है। उसे उसकी फोटो प्रति मिल गई ।

आरोपियों ने यह फर्जी रजिस्ट्री करवाने के लिए तहसील नारायणगढ में आज का समय लिया हुआ था। उसकी जमीन की फर्जी खरीद फरोख्त करने के लिए उमेद सिंह, बरगत राम व संतोष कुमारी, बलबीर सिंह नम्बरदार कुराली तहसील नारायणगढ में आए थे। जिनको नारायणगढ पुलिस ने उसकी जमीन की फर्जी रजिस्ट्री करवाते हुए मौके से पकड लिया। है। फर्जी आधार कार्ड का लिया गया सहारा: इस मामले में संतोष कुमारी जमीन की खरीददार थी। बरगद सिंह का कार्ड फर्जी था। आरोपियों ने रजिस्ट्री करवाने के लिए अपने कागजात तहसीलदार रमेश अरोड़ा के समक्ष पेश किए तो उन्हें उन कागजातों को देखकर फजीर्वाड़े की आशंका हुई। उन्होने मामले की सूचना पुलिस को दी।

पुलिस मौके पर पहुंची एवं महिला संतोष कुमारी सहित अन्य तीन आरोपियों को गिरफतार कर लिया। इस बारे जानकारी देते हुए जाँच अधिकारी चंद्रभान ने बताया कि रतन लाल लाल की जगह जाली आई डी बनाकर बरगत सिहं नकली रतनलाल बनकर 30 कनाल 16 मरले जमीन की रजिस्ट्री संतोष कुमारी के नाम करवा रहा था। इसमें बधौली निवासी नरेश कुमार मास्टर मांइंड है। सारा प्लान उसी का है। क्रेता और विक्रेता दोनों बोगस हैं। उमेध सिंह नंबरदार, प्रीतम सिंह, संतोष कुमारी व बरगद राम को काबू किया गया है। बलबीर सिंह नंबरदार व अशोक कुमार नंबरदार अभी फरार है। मामले का मास्टरमांइंड नरेश कुमार भी अभी फरार है। सभी आरोपियों के खिलाफ  मामला दर्ज किया है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top