नए मोटर वाहन कानून के लागू होने के बाद सड़क हादसों में कमी: गडकरी

0
Motor Vehicle Law, Gadkari

केरल और आंध्रप्रदेश जहां सड़क दुर्घटनाओं में हुई बढ़ोत्तरी

नई दिल्ली (एजेंसी)। केन्द्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि देश में नए मोटर वाहन कानून के पिछले वर्ष लागू किए जाने के बाद से सड़क दुर्घटनाओं में काफी कमी आई है और इससे लोगों की जानें बचाने में काफी मदद मिली है। गडकरी ने गुरूवार को लोकसभा में लक्षद्वीप से राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के सदस्य मोहम्मद फैजल पीपी के सवाल के संबंध में सदन को अवगत कराया कि मोटर वाहन अधिनियम 2019 के अच्छे परिणाम सामने आए हैं और इसके लागू होने के बाद से विभिन्न राज्यों में सड़क दुर्घटनाओं में काफी कमी आई है।

उन्होंने कहा कि इसके लागू होने के बाद गुजरात में 14, उत्तर प्रदेश में 13, मणिपुर में 4, जम्मू कश्मीर में 15, आंध्रप्रदेश में सात , चंडीगढ़ में 15 और दिल्ली जैसे प्रमुख राज्यों में दो प्रतिशत सड़क हादसों में कमी आई है। केवल केरल और आंध्रप्रदेश ही दो ऐसे राज्य हैं जहां सड़क हादसों और दुर्घटनाओं में क्रमश: 4.9 और 7.2 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है।

सांसदों की अध्यक्षता में एक समिति बनाने का आदेश

फैजल ने बताया था कि लक्षद्वीप में इस समय कोई यातायात विभाग नहीं है और न ही कोई कानूनी प्रवर्तन एजेंसी है जिसकी वजह से वहां छोटे छोटे बच्चोें में वाहन चलाने की प्रवृति अधिक बढ़ रही है और वे हादसों के शिकार भी हो रहे हैं, इस पर गडकरी ने उन्हें आश्वासन दिया कि केन्द्र शासित प्रदेश होने के नाते वहां केन्द्र के सभी कानून लागू होते हैं और वह इस मामले की जानकारी गृह मंत्री को देंगे।

पंजाब में बढ़ते सड़क हादसे पर जताई चिंता

यह समिति जिला स्तर पर काम करेगी और अपने क्षेत्रों में ऐसे जानलेवा स्पाट की पहचान करेगी। उन्होंने सभी सांसदों से आग्रह किया कि वे इस समिति में सक्रिय तौर पर हिस्सा लें और केन्द्र सरकार की योजना को क्रियान्वित करने में मदद करें। आम आदमी पार्टी के भगवंत मान ने पंजाब में बढ़ते सड़क हादसों पर चिंता जताते हुए कहा कि पंजाब में विभिन्न स्थानों पर 138 ऐसे जानलेवा स्थान है और उनके खुद के चार मित्र आवारा पशुओं की चपेट में आकर जान गंवा चुके हैं । उन्होंने मशहूर कामेडियन जसपाल सिंह भट्टी का जिक्र भी किया जिनका निधन एक सड़क हादसें में हो गया था।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।