विपक्ष के हंगामें के कारण राज्यसभा की कार्यवाही शुक्रवार तक स्थगित

0
Rajya Sabha
हंगामे के कारण चौथे दिन भी लोकसभा में नहीं चला प्रश्नकाल

हंगामे के कारण चौथे दिन भी लोकसभा में नहीं चला प्रश्नकाल | Rajya Sabha Postponed

नई दिल्ली। राज्यसभा में विपक्षी दलों के सदस्यों ने दिल्ली हिंसा मामले को लेकर आज जोरदार हंगामा किया जिसके कारण सदन की कार्यवाही शुक्रवार तक के लिए स्थगित (Rajya Sabha Postponed)कर दी गयी । सभापति एम वेंकैया नायडु ने स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के कोरोना वायरस के मुद्दे पर दकये गये बयान के बाद शून्यकाल की घोषणा की वैसे ही कांग्रेस , आम आदमी पार्टी , वामपंथी दलों , तृणमूल कांग्रेस , समाजवादी पार्टी तथा कुछ अन्य दलों के सदस्यों ने इसका विरोध करने लगे । इन सदस्यों ने दिल्ली हिंसा मामले को लेकर पहले अपनी सीट से और फिर सदन के बीच में आकर भारी शोरगुल और नारेबाजी की ।

लोकसभा में ‘अमित शाह इस्तीफा दो, गृहमंत्री इस्तीफा दो’ जैसे नारे लगाने लगे | Rajya Sabha Postponed

हंगामें के दौरान ही सभापति ने कुछ सदस्यों को शून्यकाल के नोटिस को लेकर उनके नाम पुकारे जिनमें से कुछ ने अपने मुद्दे उठाये जिसे शोरगुल के कारण नहीं सुना जा सका। सदस्यों के नारेबाजी के दौरान ही सभापति ने कहा कि जिन सदस्यों ने शून्यकाल का नोटिस दिया है और वह सदन में उपस्थित हैं लेकिन नहीं बोलना चाहते हैं यह अनुचित है तथा ऐसे सदस्यों को भविष्य में मौका नहीं दिया जायेगा । बाद में नायडु ने प्रश्नकाल की घोषणा की लेकिन इसके बाद भी सदस्यों की नारेबाजी जारी रहने पर उन्होंने सदन की कार्यवाही शुक्रवार तक स्थगित करने की घोषणा की।

वहीं लोकसभा में कांग्रेस सहित कई विपक्षी दलों के हंगामे के कारण (Rajya Sabha Postponed)प्रश्नकाल गुरुवार को भी बाधित रहा और भारी शोर शराबा तथा हंगामे के कारण पीठासीन अधिकारी भर्तृहरि महताब को सदन की कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित करनी पड़ी। सदन की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस, द्रविड़ मुनेत्र कषगम, समाजवादी पार्टी, तृणमूल कांग्रेस सहित कई विपक्षी दलों के सदस्य सदन के बीचोबीच आकर ‘अमित शाह इस्तीफा दो, गृहमंत्री इस्तीफा दो’ जैसे नारे लगाने लगे।

18 जनवरी से स्क्रीनिंग की जा रही: हॉ हर्षवर्धन

  • हर्षवर्धन ने कहा कि देश में 18 जनवरी से स्क्रीनिंग की जा रही है।
  • चीन, जापान, हॉन्ग कॉन्ग, नेपाल, वियतनाम, सिंगापुर, थाइलैंड आदि देशों के यात्रियों की स्क्रीनिंग पहले से की जा रही थी।
  • अब विदेश से आने वाले सभी यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा रही है।
  • एन95 मास्क और अन्य उपकरणों के एक्सपोर्ट को नियंत्रित किया गया है।
  • जांच के लिए 15 लैब बनाए गए हैं, 19 और तैयार किए जा रहे हैं।
  • एक कॉल सेंटर भी इसके लिए बनाया गया है।
  • ईरान के तेहरान में फंसे भारतीयों को निकालने के लिए भारत सरकार ईरान के संपर्क में है।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।