दिल्ली एनसीआर

हंगामे के कारण पहले दिन ही नहीं चली राज्यसभा

Rajya Sabha

अन्नाद्रमुक के सदस्यों ने कार्यवाही नहीं चलने दी | Rajya Sabha

नई दिल्ली (एजेंसी)। तमिलनाडु में कावेरी डेल्टा के किसानों की मांग को लेकर अन्नाद्रमुक ने बुधवार को राज्यसभा (Rajya Sabha) में भारी हंगामा किया जिसके कारण सदन की कार्यवाही भोजनावकाश के बाद दिन भर के लिए स्थगित कर दी गई हालाकि सभापति ने हंगामे के बीच ही राष्ट्रीय मानसिक मंदता कल्याण न्यास संबंधी विधेयक पारित करा दिया। अन्नाद्रमुक के सदस्यों ने इस मुद्दे पर सुबह से ही कार्यवाही नहीं चलने दी जिसके चलते शून्यकाल और प्रश्नकाल नहीं हो सका।

दो बार के स्थगन के बाद जब दोपहर दो बजे कार्यवाही शुरू हुई तो सभापति एम वेंकैया नायडू ने सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता मंत्री थावरचंद गेहलोत से राष्ट्रीय स्वपरायणता मस्तिष्काघात, मानसिक मंदता और बहुनि:शक्तताग्रस्त व्यक्ति कल्याण न्यास संशोधन विधेयक चर्चा के लिए पेश करने को कहा। इस बीच अन्नाद्रमुक के सदन में नेता नवनीत कृष्णन की अगुवाई में उनकी पार्टी के सदस्य आसन के निकट पहुंच गये और नारेबाजी शुरू कर दी। नायडू ने उनसे कई बार अपनी जगहों पर लौटने का अनुरोध किया लेकिन सदस्यों ने उनकी अनदेखी की।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top