राजिन्द्रा ब्लड बैंक और लाईफ लाईन ब्लड बैंक ने किया डेरा सच्चा सौदा का सम्मान

0

समाजसेवा की मिसाल : कोरोना के कहर में रक्तदान की लहर…

– कोरोना संकट मौके एक हजार यूनिट से अधिक रक्तदान करन के लिए दिया प्रशंसा पत्र
– थैलेसीमिया और एमरजैंसी मामलों के लिए फरिश्ते बनकर पहुंचे सेवादार: डॉक्टर

सच कहूँ/खुशवीर सिंह तूर
पटियाला। कोरोना संकट दौरान डेरा सच्चा सौदा के शाह सतनाम जी ग्रीन एस फैलफेयर फोर्स विंग के सेवादारों (Dera Followers) की ओर से ब्लड बैंकों का हाथ थामने पर आज राजिन्द्रा अस्पताल पटियाला के ब्लड बैंक और लाईफ लाईन ब्लड बैंक की ओर से डेरा सच्चा सौदा के सेवादारों को प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया गया। इस मौके ब्लड बैंक के डॉक्टरों की ओर से सेवादरों की प्रशंसा करते उनको ‘ट्रयू कोरोना वारियर’ का खिताब भी दिया गया।

उल्लेखनीय है कि कोरोना संकट दौरान पटियाला के शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैलफेयर फोर्स के सेवादार बहन -भाईयों (Dera Followers) की ओर से 1000 यूनिट से अधिक रक्तदान दिया गया। इस मौके ब्लड बैंकों में रक्त की भारी कमी पाई जा रही थी। राजिन्द्रा अस्पताल के ब्लड बैंक सहित और ब्लड बैंकों की ओर से डेरा सच्चा सौदा को पैदा हुई रक्तदान की कमी को पूरा करने के लिए अपील पत्र दिया गया था, जिसके बाद जिला पटियाला की साध-संगत की ओर से लगातार डेढ़ महीने से अधिक रक्तदान कैंपों की कड़ी चलाई गई।

रजिन्द्रा अस्पताल ब्लड बैंक की ओर से 670 यूनिट खूनदान करने पर आज जिम्मेवारों को शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैलफेयर फोर्स विंग डेरा सच्चा सौदा के नाम नाम पर प्रशंसा पत्र भेंट किया गया जबकि लाईफ लाईन ब्लड बैंक की ओर से 200 यूनिट खूनदान करने पर प्रशंसा पत्र दे कर सम्मानित किया गया। इस मौके राजिन्द्रा अस्पताल की ब्लड बैंक की मुख्य अधिकारी डॉ. रजनी ने कहा कि इन जबाज सेवादारों (Dera Followers) की तरफ से उस समय रक्त की कमी को पूरा किया गया है, जब एक समय दुनिया रूक ही गई थी और लोग डर के कारण अपने घरों से नहीं निकल रहे थे।

उन्होंने कहा कि इन सेवादारों ने कोरोना के कहर और कर्फ्यू में से दूर से दूर से आकर थैलेसीमिया पीड़ित बच्चों सहित ओर ऐमरजैंसी मामलों के लिए खून की कमी को पूरा किया गया, जिसका वह तह दिल से से धन्यवाद करते हैं। प्रशंसा पत्र लेने मौके 45 मैंबर हरमिन्दर नोना, 45 मैंबर करनपाल पटियाला, 15 मैंबर मलकीत सिंह, नानक सिंह, सागर अरोड़ा, गुरविन्दर मक्खन और प्रिंस इन्सां शामिल थे।

इस मौके 45 मैंबर हरमिन्दर नोना ने कहा कि डेरा सच्चा सौदा की साध-संगत मुश्किल घड़ी में मदद के लिए प्रशासन के कंधे से कंधा मिला कर मदद के लिए खड़ी है। उन्होंने डॉक्टरों को विश्वास दिलाया कि वह रक्तदान की यह सेवा आगे भी जारी रखेंगे। उल्लेखनीय है कि सेवादारों की ओर से नीलम ब्लड बैंक राजपुरा और नाभा के सरकारी राजिन्द्रा अस्पताल में भी 100 यूनिट से ज्यादा खूनदान दिया गया था।

यह सेवादार ट्रर्यू कोरोना वॉरियर्स : डॉ. रिंमप्रीत वालिया

लाईफ लाईन ब्लड बैंक के प्रमुख डॉ. रिंमप्रीत वालिया ने डेरा सच्चा सौदा के सेवादारों को ‘ट्रर्यू कोरोना वॉरियर्स’ का खिताब देते कहा कि मुश्किल घड़ी में खूनदान की लहर चलाने वाले यह असली योद्धा हैं। उन्होंने कहा कि डेंगू के कहर मौके या फिर किसी भी एमरजैंसी केस के लिए खून की जरूरत होती है तो यह सेवादार आधी रात को ही मरीज की जान बचाने आ जाते हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे सेवादारों में जज्बा भरने वाले इनके पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां बधाई के असली हकदार हैं।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।