राजस्थान

अजमेर में हमले के विरोध में निकाली रैली

Rajasthan Govt

राजस्थान सरकार देगी पुलवामा शहीदों के परिजनों को पचास लाख की सहायता | Rajasthan Govt

अजमेर (एजेंसी)। राजस्थान (Rajasthan Govt) के अजमेर में पुलवामा आतंकवादी हमले से आक्रोशित विभिन्न सामाजिक संगठनों के लोगों ने आज अलग अलग समूहों में सड़कों पर उतर कर विरोध व्यक्त किया गया। शहर के वीभिन्न क्षेत्रों से युवा तिरंगे ध्वज को धारण कर रैली में बजरंगगढ़ चौराहे स्थित शहीद स्मारक पहुंचकर पाकिस्तान के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

रैली में युवा केन्द्र सरकार से हमले में शहीद जवानो का तुरंत बदला लेने की मांग करते हुये जिला कलेक्ट्रेट पहुंचे और ज्ञापन दिया। अजमेर नाईं समाज पंचायत संस्था पहाड़गंज ने अपने संस्थानों को आधे दिन बंद रखकर शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी। समाज ने जिलाधीश कार्यालय पहुंचकर राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन दिया गया। आशागंज झूलेलाल चौक व्यापारिक संघ ने भी क्षेत्र के प्रतिष्ठान बंद रख शहीद सैनिकों के प्रति अपने पुष्प सुमन अर्पित किए।

वहीं राजस्थान सरकार (Rajasthan Govt) जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकवादी हमले में शहीद हुए प्रदेश के केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के पांच जवानों के आश्रितों को नौकरी एवं पचास लाख रुपये तक नकद सहायता देगी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में गुरूवार को हुए आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा की और हमले में राजस्थान के पांच शहीदों को पचास लाख रुपये तक नकद सहायता राशि देने की घोषणा की है। इसके लिए राज्य सरकार ने शहीदों के परिजनों को देय सहायता एवं सुविधा पैकेज को संशोधित किया है।

गहलोत ने हमले में शहीद हुए राज्य के राजसमंद जिले के बिनोल निवासी हैड कांस्टेबल नारायण लाल गुर्जर, भरतपुर जिले में सुन्दरवाली निवासी कांस्टेबल जीतराम, धौलपुर जिले में जैतपुर के कांस्टेबल भागीरथ सिंह, कोटा जिले में विनोद कलां के कांस्टेबल हेमराज मीणा एवं जयपुर जिले में शाहपुरा तहसील के शाहपुरा गोविन्दपुरा निवासी कांस्टेबल रोहिताश लाम्बा की शहादत पर संवेदना व्यक्त की।

केंद्र सरकार आरोपियों के खिलाफ तत्काल कार्यवाही करे |

Rajasthan Govt

अजमेर शहर कांग्रेस की ओर से यहां भी बाबू मोहल्ले स्थित कांग्रेस कार्यालय पर पुलवामा हमले में शहीद हुए शहीदों को श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर आतंकवाद का पुतला फूंककर केंद्र सरकार से मांग की कि हमले के आरोपियों के खिलाफ तत्काल कार्यवाही करे और पाकिस्तान को सबक सिखाए। ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह स्थित आहता-ए-नूर में भी आयोजित शोकसभा में खुद्दाम-ए-ख्वाजा की ओर से शहीदों की आत्मा के लिए दुआ की गई। खादिम समुदाय ने कहा कि इस्लाम में आतंक और खून खराबे की कोई गुंजाइश नहीं है। शोक सभा में ख्वाजा गरीब नवाज की बारगाह में शहीद सैनिकों के प्रति उनकी शहादत को सलाम करते हुए दुख प्रकट किया।

चित्तौडगढ़ के बाजार स्वैछिक बंद रहे

पुलवामा हमले में जवानों की शहादत पर पाकिस्तान के विरूद्ध राजस्थान के चित्तौडगढ़ में गुस्से का इजहार करते हुए लोगों ने स्वैच्छिक बाजार बंद रखा और कलॅक्ट्री पर प्रदर्शन करके राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। पुलवामा में हमले के विरोध एवं शहीद जवानों को श्रद्धांजली देने के लिए सुबह व्यवसायियों ने अपने प्रतिष्ठान स्वेच्छा से बंद रखे। पुराने शहर के समस्त बाजार पूर्णतया बंद रहे, यहां तक की चायपान की दुकानें और थडि?ां भी बंद रहे।

शहर के विभिन्न व्यापारिक संगठनों के साथ सामाजिक संगठनों ने शहर के गोल प्याऊ से सामूहिक जुलूस निकाला जो पाकिस्तानी विरोधी नारे लगाते हुए कलॅक्ट्री पहुंचा जहां पाकिस्तान एवं आतंकवाद के विरूद्ध जमकर नारेबाजी करके मानव श्रंखला बनाई और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का पुतला जलाया।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

 

लोकप्रिय न्यूज़

To Top

Lok Sabha Election 2019