Breaking News

क्षेत्र विशेष व चाटूकारों तक सीमित रहे पूर्व सांसद : बृजेंद्र सिंह

Public relations campaign run in different villages

-भाजपा प्रत्याशी बृजेंद्र सिंह ने नलवा हलके के विभिन्न गांवों में चलाया जनसंपर्क अभियान

हिसार सच कहूँ/संदीप कंबोज। हिसार लोकसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी बृजेन्द्र सिंह ने कहा कि भाजपा की केंद्र व प्रदेश सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों के चलते आज देश प्रदेश का हर वर्ग भाजपा के साथ अपना जुड़ाव महसूस कर रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नेतृत्व से जहां देश हर मोर्चे पर वैश्विक पहचान बनाने में कामयाब हुआ है, वहीं मुख्यमंत्री मनोहर लाल की जीरो टॉलरेंस नीतियों ने आम वर्ग में भी एक उम्मीद जगा दी है।

बृजेंद्र सिंह सोमवार को नलवा हलके के विभिन्न गांवों में जनसंपर्क अभियान के दौरान ग्रामीण जनसभाओं को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान भाजपा प्रत्याशी का ग्रामीणों की ओर से फूल मालाओं व गगनभेदी नारों के साथ जोरदार स्वागत किया गया। गांव मिंगनीखेड़ा में ग्रामीणों ने भाजपा प्रत्याशी को फलों से तोलकर गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। ग्रामीणों ने उन्हें विश्वास दिलाया कि इस बार नलवा हलके से भाजपा अप्रत्याशित वोटों से जीत दर्ज कराएगी।

-पूर्व सांसदों पर भेदभावपूर्ण नीतियां अपनाने का लगाया आरोप, दिलाया

भाजपा प्रत्याशी बृजेंद्र सिंह ने कहा कि उनका राजनीति में आने का मकसद जनसेवा ही है। एक प्रशासनिक सीट पर बैठे अधिकारी के समक्ष जहां अधिकारों की एक सीमा होती है, वहीं राजनीतिक तौर पर असीमित कार्य किया सकता है। उन्होंने कहा कि उनके पिताजी केंद्रीय मंत्री चौधरी बिरेंदर सिंह व माता प्रेमलता विधायक के तौर पर जनसेवा से पहले ही जुड़े हैं। अब भाजपा ने उन्हें सेवा का मौका दिया है और भाजपा का यह विश्वास वे किसी भी सूरत में टूटने नहीं देंगे।

बृजेन्द्र सिंह ने कहा कि उनका राजनीति में आने का मकसद सिर्फ और सिर्फ जनसेवा व इलाके का विकास है और वे हिसार लोकसभा क्षेत्र को उसका हक दिलाने के लिए कोई कोर कसर बाकी नहीं रखेंगे। इस मौके पर उनके साथ नलवा के विधायक रणबीर सिंह, कैप्टन भूपेंद्र सिंह, सोनाली फौगाट, घोलु गुज्जर, जिला पार्षद कृष्ण सरसाना सहित भारी संख्या में पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे।

 

 

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें

लोकप्रिय न्यूज़

To Top

Lok Sabha Election 2019