पंजाब

बस स्टैंड पर जाम, बस चालक व धरनाकारी भिड़े

Protest

निर्मल सिंह की राजनीतिक दवाब के चलते अमृतसर में बदली करने का अबोहर में विरोध

अबोहर (सच कहूँ न्यूज)।

पंजाब राज्य बिजली बोर्ड के कर्मचारियो की ईकाई टैक्रीकल सर्विस यूनियन के जोनल सचिव निर्मल सिंह की विगत माह राजनीतिक दवाब के चलते अमृतसर में की गई बदली के विरोध स्वरूप टीएसयू पश्चिमी जोन बठिंडा के आह्वान पर आज टीएसयू के समस्त कर्मचारियो ने नेहरू पार्क के बाहर रोष स्वरूप धरना दिया। इस मौके पर वक्ताओ ने संबोधित करते हुए कहा कि रवीना कत्लकांड विरोधी एक्शन कमेटी द्वारा किए गए संघर्ष के चलते पुलिस ने रवीना के पति लक्की सांदड को तो काबू कर लिया लेकिन गोपीराम सांदड व उसकी पत्नी को काबू नहीं किया गया।

इतना ही नहीं इस संघर्ष में अहम भूमिका निभाने वाले कन्वीनर निर्मल सिंह की राजनीतिक दवाब के चलते बदली कर दी गई ताकि संघर्ष को कमजोर किया जा सके लेकिन उनका संघर्ष लगातार जारी है। टीएसयू सदस्यों ने निर्मल सिंह के तबादले को रद्द करने व गोपीचंद सांदड व उसकी पत्नी के खिलाफ धारा 304बी में बढ़ोतरी करते हुए धारा 498 जोड़ते हुए उन्हे शीघ्र काबू करने की मांग की। धरना देने के बाद शहर में रोष मार्च निकालते हुए बस स्टेंड के समक्ष धरना दिया गया।

धरना काफी लम्बे समय तक चलने के कारण बस चालक और परिचालक इकट्ठे हो गये और धरनाकारियों से काफी बहस हो गई। बस चालकों का कहना था कि वह पिछले एक घंटे से इंतजार कर रहे हैं जिस कारण सवारियां परेशान हो रही हैं। माहौल तनावपूर्ण होता देख थाना प्रभारी चंद्रशेखर मौके पर पहुंचे और उन्हें शांत करवाया। इस स्थिति को देखते हुए उपमंडल अधिकारी मैडम पूनम सिंह व नायब तहसीलदार बरजिंद्र सिंह मौके पर पहुंचे।

एसडीएम के आश्वासन के बाद टीएसयू कर्मचारियों ने उठाया धरना

उनकी समस्या को सुनकर उनकी मांगों को हल करवाने का आश्वासन दिया जिसके बाद धरनाकारियों ने अपना धरना उठा लिया। इस मौके पर फरीदकोट से गब्बर सिंह, श्रीमुक्तसर साहिब से हरजीत सिंह, फिरोजपुर से प्रकाश बतरा, बठिंडा से बलजिंदर राम, पाल सिंह, दर्शन सिंह, जगतार सिंह, तथा राम कुमार वर्मा, बाल किशन फौजी, जगजीत सिंह, माया प्रकाश आदि मौजूद थे।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

 

लोकप्रिय न्यूज़

To Top

Lok Sabha Election 2019