हरियाणा

कर्ज माफी के लिए किसानों की किया प्रदर्शन

Protest, Farmers, Debt Waiver, Haryana

नरवाना (सच कहूँ न्यूज)।  भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले मंगलवार को दनौदा गांव के बिनैण खाप के चबूतरे पर किसान अधिकार महारैली का आयोजन कि या गया। जिसमें हरियाणा सहित यूपी, पंजाब, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हिमाचल, दिल्ली व जम्मू कश्मीर के किसान नेता गरजे और सरकार के खिलाफ अपनी भड़ास निकाली। इस किसान अधिकार रैली में किसानों की मांग थी कि सरकार किसानों को सारा कर्जा माफ करे, सी-2 लागत में 50 प्रतिशत जोड़कर फल, दूध व सब्जी सहित सभी फसलों को एमएसपी, एमएसपी पर सभी फसलों की पूर्ण खरीद की गारंटी का कानून बने व एमएसपी से नीचे की खरीद को दंडनीय अपराध माना जाए व सभी किसानों को न्यूनतम आमदन सुनिश्चित की जाए।

इस सभी मांगों सहित स्वामिनाथन रिपोर्ट लागू करने की मांग के साथ किसान नेताओं ने अपने विचार रखे। भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा कि कोई भी सरकार नहीं चाहती है कि हमारे देश का किसान आगे बढेÞ। उन्होंने कहा कि यह समस्या किसी एक प्रदेश या किसान की नहीं है। यह समस्या पूरे विश्व की है। इसलिए किसानों के अधिकारों के लिए सभी किसान संगठनों को एकत्रित होकर यह लड़ाई लड़नी होगी। उन्होंने बताया कि वे इस मकसद से देश के तमाम किसान संगठनों के साथ मिलकर क श्मीर से कन्याकुमारी तक की यह यात्रा शुरू की है। जिसके तहत हर प्रदेश में इस प्रकार की किसान रैलियां की जा रही है। ताकि पूरे देश के किसानों को एक  मंच पर एकत्रित किया जाए और अपने अधिकारों के लिए मजबूती लड़ा जाए।

आजादी सिर्फ कपनियों और नेताओं को मिली: गुरनाम

भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी ने संबोधन में कहा कि अब हमारी आजादी की दूसरी लड़ाई है क्योकि अग्रेजों से आजादी सिर्फ कं पनियों और नेताओं को मिली है। उन्होने कहा कि देश का किसान आज भी गुलामी की जंजीरों में जकड़ा हुुुआ है। उन्हंोने बताया कि राष्टÑीय सर्वेक्षण नमूना के 2014 के आंकड़ों के अनुसार एक आदमी प्रतिदिन 21 रूपयों के हिसाब से अपना पेट भरता है। जिससे पता चलता है कि देश में किसानों की क्या हालात है?

एसडीएम सहित अधिकारियों को दी खुली चुनौती

किसान रैली के दौरान किसान नेता सुरेश कौथ ने एसडीएम नरवाना सहित अधिकारियों को खुली चुनौती दी है। सुरेश कौथ ने महिला एसडीएम नरवाना पर किसानों को प्रदूषण जुर्माना बारे तंग करने का आरोप लगाया है। कौथ ने एसडीएम को भरी रैली में चेतावनी देते हुए कहा कि अगर एसडीएम कोई पुरूष होता तो उसको किसानों के साथ बात करने की तमीज सिखा देते।

11 किसानों को किया सम्मानित

बिनैण खाप के चबूतरे पर जेल भरो आंदोलन के दौरान जेल गए 11 किसानों को सम्मानित किया गया। जिसमें राखी बराह खाप के प्रधान सुरेश कौथ ,बारू बड़ाना ,जीत लाड़का,किसान नेता दलबीर सिंह खरड़ ,चंद्रशेखर हरसौला,जसबिन्द्र रसौला, अग्रेज नैन,मोदी नैन,दीपक नैन, जगबीर सिंह किरमारा व अशोक दनोदा को विशेष तौर पर सम्मानित किया गया।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top