Result: निजी स्कूलों से पीछे नहीं सरकारी स्कूलों के होनहार 

0

10वीं परीक्षा परिणाम विश्लेषण : बेहतरीन परीक्षा परिणामों ने बदली अभिभावकों की अवधारणा

  • बप्प स्कूल की खुशदीप कौर और बेहरवाला खुर्द स्कूल की सोमवत्ती ने संयुक्त 491-491 अंक लेकर राजकीय विद्यालयों में बनी जिला टॉपर

सच कहूँ/सुनील वर्मा सरसा। जिले के सरकारी स्कूल अब प्राइवेट विद्यालयों से कमतर नहीं है। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के हाल ही में 10वीं कक्षा के जारी नतीजों में सरकारी स्कूलों ने यह साबित भी किया है। दसवीं कक्षा के जारी हुए परीक्षा परिणाम के विश्लेषण में सामने आया है कि बेशक जिले में 494 अंक लेकर टॉप करने वाली छात्रा निजी स्कूल की है। मगर बड़ागुढ़ा ब्लॉक के राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल बप्प की छात्रा खुशदीप कौर और ऐलनाबाद ब्लॉक के राजकीय हाई स्कूल बेहरवाला खुर्द की सोमवत्ती ने भी 491-491 अंक लेकर दिखा दिया कि जिले के राजकीय स्कूलों में भी पढ़ाई प्राइवेट स्कूलों से कही कम नहीं है।

दोनों छात्राएं संयुक्त रूप से 491-491 अंक प्राप्त कर राजकीय विद्यालयों में सरसा जिला टॉपर बनी है (10th exam result analysis)

इसके अलावा ऐलनाबाद ब्लॉक के मेहणाखेड़ा स्थित राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल के अश्वनी ने 489 अंक लेकर जिले में दूसरा स्थान हासिल किया है। वहीं सरसा ब्लॉक में शहर के राजकीय हाई स्कूल महाबीर दल के सचिन व रानियां ब्लॉक के बाहिया गाँव स्थित राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल के सोनू कुमार संयुक्त रूप से 487 अंक लेकर जिले में तीसरा स्थान हासिल कर अपनी प्रतिभा का लौहा मनवाया है। अहम बात यह है कि जिला सरसा में सात खंड हैं और इन सभी खंडों में प्रथम तीन स्थानों पर रहने वाले सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों की बात करें तो उनमें कुल 26 विद्यार्थी के नाम शामिल हैं। जिनमें से 16 लड़कियां व 10 लड़के हैं।

  • वहीं सरकारी विद्यालयों में जिले में टॉप-3 में 5 पाँच विद्यार्थी शामिल है।
  • उनमें भी पहले स्थान पर दो लड़कियां है।
  • बता दें कि सरसा जिला का इस बार दसवीं कक्षा का परीक्षा परिणाम 64.51 फीसदी रहा है।

सरकार राजकीय स्कूलों को हर सुविधा प्रदान कर रही है। इतना ही नहीं शिक्षक भी पूरी तरह से प्रशिक्षित और अनुभवी हैं और इसका प्रमाण उन्होंने हाल की परीक्षा के घोषित परिणामों में दिया है। राजकीय स्कूलों की ओर से विद्यार्थियों द्वारा बेहतर अंक हासिल करने से अभिभावकों की मानसिकता भी अब निजी स्कूलों से हटकर राजकीय स्कूलों की ओर होने लगी है जो राजकीय स्कूलों की सफलता कही जा सकती है।

– संत कुमार, जिला शिक्षा अधिकारी, सरसा।

इन स्कूलों का परिणाम रहा शत-प्रतिशत

जिला में 79 सेकेंडरी व 114 सीनियर सेकेंडरी स्कूल है। इनमें जिन स्कूलों का दसवीं कक्षा का परीक्षा परिणाम 100 प्रतिशत रहा है, वो 5 स्कूल है। इन स्कूलों में डबवाली ब्लॉक का जीएचएस मुन्नावाली, बड़ागुढां ब्लॉक में आरोही मॉडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल झिड़ी, नाथूसरी चोपटा ब्लॉक में जीएचएस बरासरी व सरसा ब्लॉक में जीएचएस बनसुधार व जीएचएस चामल स्कूल का नाम शामिल है। इन 5 स्कूलों का दसवीं कक्षा का परिणाम शत-प्रतिशत रहा है।

Result-2        result

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।