त्यौहारों पर भारी पड़ रही कोरोना की मार

0
Corona epidemic festivals

मंदी के बीच महंगाई बढ़ा रही मुश्किलें

भिवानी (सच कहूँ न्यूज)। कोरोना महामारी त्यौहारों पर भी भारी पड़ रही है। दो दिन बाद विजय दशमी का पर्व रविवार के दिन मनाया जाएगा। गत वर्ष तक विजय दशमी, करवाचौथ, अहोई अष्टमी, धनतेरस, दीपावली, भाईदूज, छठ पूजा को लेकर लोगों में खासा उत्साह दिखाई देता था। लेकिन इस बार कोरोना के चलते न कोई खरीददारी के प्रति उत्साहित है और न ही कोई आपस में मिलने-जुलने को। विजय दशमी पर शहर में तीन-चार जगह रावण दहन के कार्यक्रम होते थे, लेकिन इस बार महामारी के चलते ये सभी कार्यक्रम स्थगित कर दिए गए हैं।

इसके बाद आने वाले त्यौहारों में तो खरीदारी की भूमिका अधिक होती है। भले ही सुहागिन अपने लिए सामान खरीदें या फिर अहोई अष्टमी पर बच्चों के लिए। धनतेरस पर घर के लिए व भाईदूज पर बहनें भाई के लिए उपहार खरीदती हैं। एक तो महामारी का भय और दूसरा महंगाई की मार। इसी से तो आम आदमी दो-चार हो रहा हैं। स्थिति यह है कि त्यौहारों के प्रति लोगों का उत्साह खत्म सा हो गया है। महंगाई के चलते लोगों की जेब भी जवाब दे गई है। दूसरा महामारी की मार से लोगों के रोजगार पर भी सवालिया लग गया हैं।

परिवार पोषण भी आम लोगों के लिए कठिन काम हो गया है। बाजार में खरीदारी करने आए रामनिवास, सावित्री, श्योनंद, सरला, सुनीता आदि से जब बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि बरस भर मैं त्यौहार आवैं तो छोरी-छापरी खातिर कुछ न कुछ तो करना पड़ैगा। जिसकी आसंग है, उसो काम तो करना ही है। महंगाई के चलते त्यौहारों का उत्साह फीका पड़ गया है। उन्होंने कहा कि जीवन के पांच दशक से अधिक उन्होंने देखे है, ऐसी महंगाई व मंदी कभी नहीं देखी।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।