बॉर्डर खोलने के लिए मुझ पर प्रेशर डाला, लेकिन मैं नहीं माना : विज

0
Pressured me to open the border, but I did not agree Vij

हरियाणा में कोरोना केस बढ़ने के लिए दिल्ली को ठहराया जिम्मेदार

  • बोले-अनलॉक से केस बढ़ने ही थे, ज्यादा मामले एनसीआर इलाकों में बढ़े

सच कहूँ/अनिल कक्कड़ चंडीगढ़। प्रदेश में बढ़ रहे कोरोना के मामलों पर चिंता व्यक्त करते हुए प्रदेश गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि अनलॉक होने से केस तो बढ़ने ही थे। इसलिए उन्होंने पहले दिन से हरियाणा के तमाम बोर्डरों को सील करने पर जोर दिया और बॉर्डर सील भी किये। विज ने कहा कि मेरे इस फैसले को टालने के लिए बहुत प्रेशर आया, बहुत फोन आए और बॉर्डर खुलवाने के लिए बहुत लोगों ने कोशिश की, लेकिन मैंने किसी की नहीं मानी। क्योंकि मेरे सामने पहले हरियाणा की जनता की रक्षा की जिम्मेदारी थी। अब केंद्र ने ही योजना बनाकर अनलॉक-1 में सारी सेवाएं खोल दीं तो सेवाएं शुरू होते ही हरियाणा में एकदम से कोरोना के मामले बढ़ने शुरू हो गए।

दिल्ली से आने वाले लोग कोरोना कैरियर

विज ने कहा कि दिल्ली आज की तारीख में पूरी तरह से कोरोना से ग्रसित है। दिल्ली के साथ हमारे प्रदेश की सीमा लगती है। दिल्ली के लोगों का हमारे प्रदेश के साथ आना जाना है। जब वो आते-जाते हैं तो बतौर कैरियर वो कोरोना भी साथ ला सकते हैं। उनके यहां पर आने से, लोगों से मेलजोल करने से कोरोना बढ़ रहा है। विज ने कहा कि हरियाणा में जो कोरोना के मरीज हैं, उनमें से 47 प्रतिशत गुरुग्राम के हैं और बाकी की जो बढ़ोत्तरी हो रहीं है, वो दिल्ली के साथ सटे जिलों में हो रही है। विज ने कहा कि हालांकि अन्य जिलों में भी कोरोना फैलने लगा है, क्योंकि गाड़ियां चलने लगी हैं, लोग अपने वाहनों से आने-जाने लगे हैं, डोमेस्टिक एयरलाइन शुरू हो गई है। सारे हरियाणा में लोग कई तरफ से आ रहे हैं तो कोरोना फैल रहा है, लेकिन सबसे ज्यादा मामले एनसीआर के जिलों में है।

बचने का मूल मंत्र सोशल डिस्टैंसिंग

विज ने कहा कि जब सभी सेवाएं शुरू हो गई हैं और होटल, मॉल, धार्मिक स्थान, बाजार सब खुल गए हैं तो अब कोरोना से बचने का एक ही सूत्र है कि स्वयं की प्रेरणा से दो गज की दूरी बना कर रखें। अब सरकार हर जगह पर अपने आदमी खड़ा करके नहीं रख सकती। हर दुकान, रेलवे स्टेशन, मॉल के आगे पुलिस नहीं खड़ा कर सकती। विज ने कहा कि अब लोगों को मास्क पहनना और दो गज की दूरी को स्वयं की प्रेरणा से अपनाना होगा। मास्क न पहनने वालों पर जुर्माना भी लगाया जाएगा और ये हमारी मजबूरी है क्योंकि लोगों की सुरक्षा हमारा दायित्व है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।