कोरोना/लॉकडाऊन। सफर की तैयारियां पूरी, सवारियां तैयार नहीं

0
Punjab Roadways

 डिपू प्रबंधकों ने 100 बसों को सैनेटाईज कर किया हुआ था प्रबंध

  •  देर शाम तक अलग -अलग रूटों पर चली केवल 12 बसें

बठिंडा(सच कहूँ/सुखजीत मान)। बठिंडा बस स्टैंड में आज दो महीनों बाद में थोड़ी रौनक लौट आई पहले जितनी चहल -पहल तो अभी नहीं थी परन्तु बसें फिर शुरू होने से स्टाफ सहित पास के दुकानदारों और यात्रियों ने राहत महसूस की है। आज पहले दिन सवारियों कम थी जबकि अनुशासन अधिक दिखाई दिया। बठिंडा डीपू का स्टाफ आज सेहत कर्मचारियों की तरह यात्रियों को मास्क का प्रयोग और हाथों को साफ रखने के लिए प्रेरित कर रहा था। देर शाम तक खबर लिखे जाने तक अलग -अलग रूटों के लिए बस स्टैंड से 12 बसें रवाना हो चुकी थीं जबकि आम दिनों में यह संख्या सैंकड़ों को छू जाता है।

पीआरटीसी के बठिंडा डीपू में से हासिल किये विवरणों मुताबिक 3 बसें चण्डीगढ़ के लिए, 2 मानसा, 2 बरनाला, 2 मलोट, 1 श्री मुक्तसर साहब और 2 डबवाली की ओर रवाना हुई। बस स्टैंड में से पहली बस सुबह 6 बजे चण्डीगढ़ को चली, जिस में16 सवारियां थी। इंस्पेक्टर जसविन्दर सिंह ने बताया कि मुख्य दफ़्तर से जारी हुई हिदायतों के अंतर्गत कोरोना महामारी के कारण इस्तेमाल की जाने वाली सभी सावधानियों को ध्यान में रखते बसों को रवाना किया गया है। सवारियों की आमद सम्बन्धित पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि प्रति बस औसत -17 सवारियां रही हैं।

नियमित दूरी बनाई रखने के लिए बस स्टैंड में बाकायदा तौर पर निशानदेही की गई

बस स्टैंड में देखा गया कि सुबह के समय पर दूर -दराज नौकरी पेशा के लिए जाने वाले व्यक्तियों की संख्या अधिक थी। उसके बाद में प्रवासी मजदूर चक्कर काटने लगे। टिकट काउन्टर पर प्रवासी उत्तर प्रदेश को जाने वाली बसो की जानकारी मांग रहे थे। यह प्रवासी मजदूर यहां से डबवाली को जाने वाली बसों के द्वारा चले गए जहां से आगे से वह दिल्ली को जाने वाली बसें ले सकेंगे। रामां रिफायनरी में काम करने वाले उत्तर प्रदेश के जिला आजमगढ़ में स्थित गांव फ्लेश निवासी सुभाष और खेतासराए निवासी सुरिन्दर कुमार ने बताया कि उन्होंने 12 जनों ने उत्तर प्रदेश जाना है। इसलिए वह बठिंडा से डबवाली पहुंच कर आगे वाली बस ले लेंगे।

स्टाफ ने जताई प्रबंधों पर संतुष्टी

बठिंडा डीपू के स्टाफ सदस्यों ने कोरोना के कारण सावधानियां इस्तेमाल किए जाने वाले साजो सामान के प्रबंधों पर संतुष्टि जताई की है चण्डीगढ़ जाने वाली बस के चालक सतवीर सिंह ने बताया कि डीपू प्रबंधकों ने उनको मास्क, सैनेटाईजर और दस्ताने आदि पूरा सामान मुहैया करवाया है और वह नियमों मुताबिक सवारियां लेकर चण्डीगढ़ को जा रहा है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।