इंसानों के खाने लायक नहीं ट्रेन का खाना

0
Railway Food CAG, Polluted, Food, Railway, Indian Railway

Railway Food CAG | सीएजी की रिपोर्ट में हुआ खुलासा

New Delhi:  अगर आप रेल सफर के दौरान पेंट्री कार से खाना आॅर्डर करते हैं तो सावधान हो जाइए। हाल ही में सीएजी की रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि ट्रेन का खाना ( Railway Food CAG ) इंसानों के खाने के योग्य नहीं है।

Railway Food CAG | ट्रेनों और स्टेशनों पर परोसी जा रही प्रदूषित चीजें

  • रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रेनों और स्टेशनों पर परोसी जा रही चीजें प्रदूषित हैं।
  • डिब्बाबंद और बोतलबंद चीजों को एक्सपायर होने के बावजूद भी बेचा जा रहा है।
  • इसके अलावा, अनाधिकृत ब्रैंड की पानी की बोतलें बेची जा रही हैं।
  • जांच में पाया गया कि रेल परिसरों में साफ-सफाई पर कोई ध्यान नहीं दिया जाता है।
  • इसके अलावा, ट्रेन में बिक रहीं चीजों का बिल न दिए जाने और फूड क्वॉलिटी में कई तरह की खामियों की भी शिकायतें हैं।

Railway Food CAG | 74 स्टेशनों और 80 ट्रेनों का लिया जायजा

  • सीएजी और रेलवे की जॉइंट टीम ने 74 स्टेशनों और 80 ट्रेनों का दौरा कर जायजा लिया जहां उन्हें रेलवे की खामियां नजर आई।
  • आॅडिट रिपोर्ट में लिखा है, ‘पेय पदार्थों को तैयार करने के लिए नल से सीधे अशुद्ध पानी लेकर इस्तेमाल किया जा रहा था।
  • कूड़ेदान ढके नहीं हुए थे और उनकी नियमित अंतराल पर सफाई नहीं हो रही थी।
  • खाने की चीजों को मक्खी, कीड़ों और धूल से बचाने के लिए उन्हें ढककर नहीं रखा जा रहा था।
  • इसके अलावा, ट्रेनों में चूहे, कॉकरोच का आना जाना आम बात है। जो खाने को प्रदूषित करते हैं।

Railway Food CAG | नहीं है ब्लू प्रिंट

  • रिपोर्ट के मुताबिक,भारतीय रेल प्रशासन जरूरी बेस किचन, आॅटोमैटिक वैंडिंग मशीनें जैसे इन्फ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध कराने की दिशा में प्रभावशाली कदम उठाने में नाकाम रहा।
  • रिपोर्ट में लिखा है, ‘सात रेलवे जोनों में कैटरिंग सर्विस के लिए प्रावधानों का ब्लूप्रिंट ही नहीं तैयार किया गया।
  • इसके अलावा,यह भी लिखा है कि पॉलिसी में बार-बार बदलाव करने से यात्रियों को कैटरिंग सर्विस मुहैया कराने वाले मैनेजमेंट पर बेतरतीब रहने का संकट छाया रहता है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।