नेताओं के बिगड़ते बोल

0
Sadhvi Pragya

राजनीति के रंग बड़े अजीब हैं। नेताओं की जुबान बेलगाम होने लगी है। बिना सोचे समझे कुछ भी कहीं भी बोल देना एक आम इंसान के लिए भी ठीक नहीं लेकिन अगर एक जनप्रतिनिधि ऐसा करे और वह भी लोकसभा में तो यह राजनीति के गिरते स्तर को इंगित करता है। सांसद साध्वी प्रज्ञा ने लोकसभा में महात्मा गांधी के हत्यारे नत्थुराम गोड़से को देशभक्त कहा। एस.पी.जी सुरक्षा को लेकर जब लोकसभा में बहस हो रही थी तो सांसद ए.राजा ने महात्मा गांधी के हत्यारे नत्थुराम गोड़से का उदाहरण दिया तो भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा ने बीच में टोकते हुए कहा कि देशभक्त का उदाहरण मत दीजिए। साध्वी के इस ब्यान से लोकसभा में होहल्ला मच गया तब सभापति ने साध्वी के ब्यान को लोकसभा की कार्यवाई से हटा दिया।

साध्वी प्रज्ञा के इस ब्यान ने भाजपा को असहज कर दिया। यह पहला मौका नहीं है जब भाजपा के किसी नेता के अमर्यादित ब्यान से भाजपा को असहज किया हो लेकिन साध्वी प्रज्ञा ने करीब पांच महीने पहले भी नत्थुराम गोड़से को देशभक्त था, है और रहेगा कहा था। तब भाजपा ने इस ब्यान से पल्ला झाड़कर और साध्वी को चेतावनी देकर इतिश्री कर ली थी। लेकिन इस बार साध्वी ने कहीं और नहीं बल्कि लोकसभा में गांधी के हत्यारे नत्थुराम गोडसे को देशभक्त बताकर भाजपा को भी शर्मसार कर दिया।

भाजपा ने कार्रवाई करते हुए साध्वी प्रज्ञा को रक्षा मामलों की सलाहकार समिति से हटा दिया और मौजूदा सत्र में उन्हें संसदीय समिति की बैठक में शामिल होने पर रोक लगा दी। महात्मा गांधी जी को भारत में राष्ट्रपिता माना जाता है और पूरे विश्व में उनका नाम पूरे आदर और सत्कार के साथ लिया जाता है। क्या महात्मा गांधी के हत्यारे को बार-बार देशभक्त कहने वाले के विरुद्ध यह कार्रवाई पर्याप्त है? दूसरी तरफ कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा एक सांसद को आंतकवादी कहना भी उतना ही गलत है।

बेशक सांसद साध्वी प्रज्ञा पर 2008 में मालेगांव बम विस्फोट मामले में आतंकवाद का आरोप लगा है और इस समय वह स्वास्थ्य कारणों के कारण जमानत पर हैं लेकिन अभी तक उन पर यह आरोप सिद्ध नहीं हुआ है। अदालत के निर्णय से पहले किसी को दोषी करार देना कतई उचित नहीं। संवैधानिक पदों पर बैठे लोगों को कम से कम ऐसे अनर्गल ब्यानों से परहेज करना चाहिए। विचारों में मतभेद हो सकते हैं लेकिन शब्दों की गरिमा को कभी खोना नहीं चाहिए।

post by/ veerpal

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करे।