पुलिस-परिजन ढूंढ रहे थे नहर में, रेलवे स्टेशन पर मिली

0
police were searching in the canal but found at railway station - hanumanghad news - Sach Kahoon

नहर किनारे मोबाइल फोन, आधार कार्ड सहित अन्य सामान छोड़ पुलिस-परिजनों को किया गुमराह

हनुमानगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। जिस युवती को पुलिस व परिजन नहर में छलांग लगाने की संभावना के चलते नहर में तलाश कर रहे थे वह मंगलवार को जंक्शन के रेलवे स्टेशन पर मिल गई। युवती ने पुलिस व परिजनों को गुमराह करने के लिए ख्ुाद के नहर में कूदने का नाटक रचा था। इस नाटक की पोल मंगलवार को खुल गया। युवती निशा (19) पुत्री दीपचन्द सोनी निवासी जीजीएस स्कूल के पास सेक्टर 12 ने गुमराह करने के लिए सादुल ब्रांच नहर के किनारे मोबाइल फोन, ईयर फोन, आधार कार्ड, आईडी कार्ड, 50 रुपए वगैरा सामान छोड़ दिया था।

नहर में मिलने का मामला पहले से ही लग रहा था संदेहास्पद

युवती के सकुशल बरामद होने पर पुलिस के कहने पर एकबारगी परिजन उसे अपने साथ घर ले गए ताकि उसके उसके यह नाटक करने के पीछे के कारणों का पता लगाया जा सके। युवती के नहर में छलांग लगाने की संभावना ने पुलिस की पिछले तीन दिनों से खासी परेड करवाई। पुलिस ने रविवार को पहले दिन नहर में गोताखोर उतार तलाश शुरू करवाई थी। सोमवार को भी पूरे दिन पुलिस व परिजन हैड किनारे पर निगरानी रखे रहे। जंक्शन थाने के एएसआई रामेश्वरलाल सिंवर ने बताया कि मंगलवार अपरा, करीब तीन बजे किसी ने उक्त युवती को जंक्शन रेलवे स्टेशन पर बैठे देख पूछताछ की तो निशा ने सूरतगढ़ में अपनी किसी परिचित का मोबाइल नम्बर बताया। उन नम्बरों पर बात की तो वह निशा के चचेरे भाई के पास था जो उस समय जंक्शन पुलिस थाने में बैठा था।

रविवार-सोमवार को उसने भूखे-प्यासे रहकर दो दिन रेलवे स्टेशन पर गुजारे

सूचना पर वह मौके पर पहुंचा तो वहां उन्हें निशा मिल गई। इसके बाद परिजन उसे घर ले गए। अभी तक युवती ने परिजनों को जो बताया है उसके अनुसार वह शनिवार को जयपुर से बस के जरिए हनुमानगढ़ रवाना हुई। रविवार सुबह हनुमानगढ़ पहुंची। रविवार-सोमवार को उसने भूखे-प्यासे रहकर दो दिन रेलवे स्टेशन पर गुजारे। मंगलवार को भी आधा दिन रेलवे स्टेशन पर बीता। एएसआई सिंवर ने बताया कि युवती के नहर में मिलने का मामला पहले से ही संदेहास्पद नजर आ रहा था।

अमूमन 72 घंटे होने पर शव पानी के ऊपर आ जाता है लेकिन शव आदि नहीं मिलने के कारण यह मामला संदिग्ध लगने लगा।इसी बीच युवती के मंगलवार को बरामद होने से इस नाटक का पटाक्षेप हो गया। उन्होंने बताया कि निशा जयपुर में एक प्राइवेट कंपनी में काम करती है। वह जयपुर से ही लापता हुई थी। इस कारण परिजनों की ओर से सोमवार को ही जयपुर में गुमशुदगी दर्ज कराई गई थी। आगामी कार्रवाई भी जयपुर पुलिस करेगी। निशा के बयान आदि की कार्रवाई होगी।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।