जहरीली शराब मामला : भाजपा नेताओं ने सरकार के खिलाफ दिया धरना

0
Poisonous liquor case BJP leaders protest against government

(Poisonous Liquor Case)

सच कहूँ/जसवीर सिंह गहल, बरनाला। जहरीली शराब मामले में भारतीय जनता पार्टी ने राज्य सरकार के खिलाफ धरना दिया और माझा क्षेत्र में जहरीली शराब बेचने के जिम्मेदार दोषियों के खिलाफ सख़्त कार्रवाई की मांग करते पंजाब सरकार खिलाफ जमकर नारेबाजी की। धरने दौरान संबोधित करते भाजपा जिला प्रधान यादविन्दर शंटी और जनरल सचिव परमिन्दर खुरमी ने कहा कि कैप्टन सरकार ने सत्ता में आने पर चार हफ़्तों में नशा खत्म करन की बात कही थी परंतु आज भी राज्य से नशे की ओवरडोज के कारण बड़ी संख्या नौजवान रोजाना मर रहे हैं और सब से बड़ा हादसा माझा क्षेत्र अधीन अमृतसर, तरनतारन व गुरदासपुर जिलों में घटा है। जहां जहरीली शराब पीने से तकरीबन 120 व्यक्तियों की मौत हो गई है।
उन्होंने इस मौके जंडियाला गुरू के कांग्रेसी विधायक सुखविन्दर सिंह डैनी पर शराब माफिया की कथित सरप्रस्ती करने के दोष लगाते कहा कि जब आबकारी विभाग की टीम शराब की फैक्टरियों पर छापेमारी करने जा रही था तो इसी विधायक ने छापेमारी करने वाले अधिकारियों के खिलाफ एक पत्र दाखिल किया था। उन्होंने कहा कि पंजाब में अमन कानून नाम की कोई चीज नहीं है और कांग्रेसी नेता कानून तोड़ने में लगे हुए हैं। धरनाकारियों ने इस दौरान राज्य सरकार से जहरीली शराब के साथ मरने वालों के परिवार के लिए 25-25 लाख रूपये के मुआवजे की मांग की। उन्होंने चेतावनी दी कि 21 अगस्त को पूरे पंजाब में भारतीय जनता पार्टी की ओर से रोष प्रदर्शन किये जाएंगे और बरनाला में डिप्टी कमिशनर दफ़्तर का घिराव किया जाएगा। इस दौरान धरनाकारियों ने पंजाब के मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्द्र के सिंह विरूद्ध जमकर नारेबाजी भी की।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।