कृषि कानूनों पर बोले पीएम, गंगा जल जैसी पवित्र नीयत से हो रहा है काम

0
8
PM said on agricultural laws, work is being done with holy intentions like Ganga water

वाराणसी (एजेंसी)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने (PM said on Agricultural Laws) नये कृषि कानून को लेकर किसानों के बीच उत्पन्न आशंकाओं के लिए कांग्रेस की ओर इशारा करते उसे जिम्मेवार ठहराया तथा अपने छह वर्षों के कार्यकाल की उपलब्धियों को ऐतिहासिक करार देते हुए सोमवार को यहां कहा कि गंगा जल जैसी पवित्र नीयत से काम किया जा रहा है, जिसके बेहतर परिणाम आने शुरू हो गये हैं और किसी को भी भ्रम में पड़ने की जरूरत नहीं है।

पीएम ने राष्ट्रीय राज मार्ग परियोजना के लोकार्पण समारोह को संबोधित करते हुए कहा

उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के मिजार्मुराद के खजुरी में 2,447 करोड़ रुपये की राष्ट्रीय राज मार्ग परियोजना के लोकार्पण समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि किसानों के साथ दशकों से धोखा एवं छलावा किया जा रहा है। उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-19 के हंडिया (प्रयागराज)-राजातालाब (वाराणसी) खंड की छह लेन वाली चौड़ीकरण परियोजना को राष्ट्र को समर्पित किया। इससे वाहनों का आवागमन आसान हो गया है और आने-जाने में अब एक घंटे कम लगने की संभावना है।

पीएम ने कहा कि वर्षों तक केंद्र की सत्ता में रही कांग्रेस का नाम लिये बिना कहा कि पिछली सरकारों के दौरान किसानों को तरह-तरह के धोखे दिये जा रहे थे। कभी फसलों के न्यूनतम मूल्य दिलाने के नाम पर तो कभी सिंचाई परियोजनाओं के नाम पर और कभी किसानों के बकाया रिण माफ करने के लिए। इन सब का लाभ कभी भी किसानों को नहीं मिल पाता था। इसलिए उनकी स्थिति लगातार खराब होती चली गई।

उन्होंने कहा कि किसानों के साथ बार-बार छल करने वाले लोग नये कृषि कानूनों के खिलाफ आजकल भ्रमण फैला रहे हैं, जिनके लिए अनेक राजनीतिक दलों की ओर से वर्षों से मांग की जाती रही है। नये कानून से किसानों को लाभ मिलने शुरू हो गये हैं। आने वाले समय में देश के सभी छोटे-बड़े किसानों को उनकी फसल का उचित मूल्य मिलेगा लेकिन जो लोग किसानों के साथ छल करते रहें, वे चौबीसों घंटे भ्रमण फैलाने का काम कर रहे हैं। जिससे सावधान रहने की जरूरत है। मोदी ने कहा कि जिन किसानों को नये कृषि कानूनों को लेकर कोई आशंका है, उसे सरकार लगातार दूर कर रही है तथा इस प्रकार के प्रयास आगे जारी रहेंगे।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।