हरियाणा

सावधान! अब नहीं चलेगी पैट्रोल पंपों की ठगी

Petrol, Diesel, Prices, Reduced, Gujarat, Maharashtra, India

सख्ती: प्रतिदिन पैट्रोल पंपों की होगी जांच

5 इंस्पेक्टर तथा 4 एएफएसओ की टीम करेगी निरीक्षण

सरसा (सच कहूँ न्यूज)। पैट्रोल पंप संचालक चाहकर भी उपभोक्ताओं के साथ ठगी नहीं कर सकेंगे। खाद्य एवं आपूर्ति विभाग द्वारा पैट्रोल पंपों की निगरानी करने के लिए पुख्ता बंदोबस्त किए है। विभाग के अधिकारियों का एक बेड़ा निगरानी कार्य के लिए नियुक्त किया गया है, जोकि प्रतिदिन पैट्रोल पंपों की जांच करेगा और उपभोक्ता हितों की रक्षा करेगा।

15 इंस्पेक्टर तथा 4 एएफएसओ की टीम का गठन किया गया है, जोकि समय-समय पर जिला के 194 पंपों की जांच करेंगे। पंप संचालकों को रेट के लिए डिस्पले बोर्ड लगाने की हिदायत दी गई है, जिस पर प्रतिदिन के रेट अंकित होंगे। तय रेट के अनुसार ही मशीन में फीडिंग होगी। यदि जांच में खामी पाई गई तो कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
-प्रमोद शर्मा, जिला खाद्य एवं आपूर्ति नियंत्रक।

गड़बड़ी होने पर उपभोक्ता 01666- 248422 पर करें शिकायत

खाद्य एवं आपूर्ति विभाग द्वारा आमजन की सुविधा के लिए विभाग का फोन नंबर 01666- 248422 सार्वजनिक किया गया है। यदि उपभोक्ता को किसी पैट्रोल पंप से किसी प्रकार की शिकायत हो तो इस नंबर पर अपनी शिकायत दर्ज करवा सकता है। रेट में गड़बड़ी करने अथवा अन्य प्रकार की शिकायत मिलने पर विभाग द्वारा पहले पंप को सील किया जाएगा और इसके बाद जांच शुरू की जाएगी।

जिला में है 194 पैट्रोल पंप

सरसा जिला में 194 पैट्रोल पंप हंै। केंद्र सरकार के फैसले के अनुसार बीती 16 जून से पैट्रोल व डीजल की रोजाना कीमत तय होती है। ऐसे में उपभोक्ताओं को पंप संचालकों द्वारा ठगे जाने की आशंका बनी रहती है।

रेट कम होने के बावजूद पंप संचालकों द्वारा अपने मीटर में दर न घटाने पर उपभोक्ता को चपत लगनी तय है। उपभोक्ता यह नहीं जान सकता कि आज के रेट क्या हैं और पंप संचालक ने उसी रेट के अनुसार अपने मीटर में फीडिंग की है। दूरदराज के पैट्रोल पंपों पर तो ठगी की अधिक आशंका है। ऐसे में विभाग की ओर से 15 इंस्पेक्टर तथा 4 एएफएसओ की टीम का गठन किया गया है।

यह टीम जिला के पैट्रोल पंपों का समय-समय पर निरीक्षण करेगी। विभाग की औचक जांच में यदि किसी प्रकार की गड़बड़ी पाई गई तो पंप संचालक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। खाद्य एवं आपूर्ति विभाग की सक्रियता से वाहन चालकों के हकों की रक्षा हो पाएगी।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top