राजस्थान में वैट कम करने की मांग पर पेट्रोल पंप संचालक हड़ताल पर

0
Petrol, diesel powered vehicles will not stop
Petrol, Diesel, Prices, Fall

हड़ताल के चलते 4,500 पेट्रोल पंपों पर  लगा ताला | Petrol Pump Strike

जयपुर (एजेंसी)।  राजस्थन में वीरवार को पेट्रोल पंप बंद (Petrol Pump Strike)  हैं। राजस्थान पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन के आह्वान पर सरकार से वैट कम करने की मांग पर सुबह छह बजे से शाम छह बजे तक के लिए पेट्रोल पंप बंद रखे गए हैं। इस हड़ताल के चलते करीब 4,500 हजार पेट्रोल पंपों पर ताला लगा हुआ है। एंबुलेंस और अग्निशमन वाहनों को ही पेट्रोल व डीजल दिया जा रहा है।

बुलेंस और अग्निशमन वाहनों को ही पेट्रोल व डीजल दिया जा रहा है।

एसोसिएशन के अध्यक्ष सुमित बगई के अनुसार, प्रदेश में अन्य राज्यों के मुकाबले वैट ज्यादा होने के कारण पड़ोसी राज्यों के मुकाबले पेट्रोल और डीजल की खपत कम हो रही है और इससे न सिर्फ पेट्रोल पंप संचालकों को बल्कि सरकार को भी नुकसान उठाना पड़ रहा है। राजस्थान में अन्य राज्यों की अपेक्षा पेट्रोल और डीजल की कीमत पांच से नौ रुपये अधिक है। पेट्रोल पंपों की हड़ताल के बारे में हालांकि एसोसिएशन ने पहले सूचना दे दी थी, लेकिन इसके बावजूद कई लोगों को पेट्रोल और डीजल के लिए परेशान होता देखा गया।

  • सूत्रों के मुताबिक, पेट्रोल पंप संचालकों की हड़ताल की वजह से कई शहरों में पेट्रोल न मिलने से वाहनों की रफ्तार थम गई है।
  • पेट्रोल पंप संचालक एक ओर हड़ताल कर वैट कम करने की मांग कर रही है।
  • दूसरी ओर, सरकार इस मसले को लेकर गंभीर नहीं है।
  • इसका खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ रहा है।
  • ब्लैक में पेट्रोल महंगा बेचा जा रहा है। लोग जरूरत की वजह से ज्याजा पैसे देने को मजबूर हैं।
  • सरकार को इस मसले का शीघ्र समाधान करने की जरूरत है, ताकि आम अवाम को राहत मिल सके।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।