राजस्थान

पेयजल संकट को लेकर लोगों का धरना प्रदर्शन

Drinking Water Crisis

शहर में लंबे समय से पानी की समस्या बनी हुई है | Drinking Water Crisis

अजमेर (एजेंसी)। राजस्थान के अजमेर शहर में गहराते जलसंकट से सरकार का ध्यान आकर्षित कराने के लिए शुक्रवार को गांधी भवन पर संयुक्त श्रमिक समन्वय समिति एवं अनेक सामाजिक संस्थानों के संयुक्त तत्वावधान में जलसंकट (Drinking Water Crisis) निवारण की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन किया गया। समन्वय समिति के संयोजक सुनील पुट्टी ने बताया कि शहर में लंबे समय से पानी की समस्या बनी हुई है। लोग इसमें सुधार की मांग कर रहे है और मांग के लिए आंदोलनरत है। बावजूद इसके जलदाय विभाग पर इसका कोई असर नहीं हो रहा है।

शहर में आज भी तीन से चार दिन बाद महज 30-40 मिनट पानी दिया जा रहा है जो कि बहुत कम प्रेशर से अपर्याप्त मात्रा में है। इसके विपरीत अजमेर के हिस्से के पानी से जयपुर में नियमित जलापूर्ति की जा रही है। धरना स्थल पर मौजूद विभिन्न यूनियनों के नेताओं ने अपने भाषण में बीसलपुर बांध की पानी केवल अजमेर के लिए होना बताते हुए कहा कि अजमेर के हितों पर कुठाराघात अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। बांध के पानी पर पहला हक अजमेर का है जब अजमेर ही प्यासा रह रहा है तो पानी अन्य स्थानों पर क्यों सप्लाई किया जा रहा है।

नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे एम्प्लॉइज यूनियन से जुड़े समिति के अध्यक्ष मोहन चेलानी ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अजमेर में पानी की नियमित आपूर्ति सुनिश्चित की जाए अन्यथा इसका खामियाजा आने वाले विधानसभा चुनाव में भुगतना होगा।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top