अबोहर : ठाकर आबादी के बाशिंदों ने किया चक्का जाम

0
Protest

 बीते कई सालों से सीवरेज व सड़क समस्या का संताप झेल रहे लोग | Protest

  • एसडीएम के आश्वासन के बाद धरनाकारियों ने उठाया धरना

अबोहर(सच कहूँ/सुधीर अरोड़ा)। पिछले कई वर्षों से सीवरेज एवं सड़क समस्या का संताप झेल (Protest) रहे ठाकर आबादी के बाशिंदों ने अभी भी सड़क का निर्माण कार्य पूरा न किए जाने के विरोध में आज हनुमानगढ रोड स्थित ओवरब्रिज पर करीब 3 घंटों तक चक्का जाम कर धरना लगाए रखा, इस दौरान दोनों और वाहनों की लंबी लंबी कतारें लग गई। मौके पर गए थाना अधिकारियों के धरना उठाने के प्रयास भी रंग न लाए तो एसडीएम ने मौके पर पहुंचकर लोगों के साथ इस ऐरिया का दौरा कर उन्हें आश्वासत किया, जिसके बाद धरनाकारियों ने अपना धरना उठा दिया।

चक्का जाम से सड़क के दोनों तरफ लगी वाहनों की लंबी कतारें

धरना दे रहे लोगों ने बताया कि पंजाब में कांग्रेस सरकार को आए करीब तीन वर्ष बीत गए लेकिन अभी भी इस क्षेत्र सहित पूरे शहर में अमृत योजना के कार्य अधूरे पड़े हैं। उन्होंने बताया कि शिअद-भाजपा सरकार के समय पूर्व मंत्री विजय सांपला ने इस क्षेत्र में अमृत योजना के तहत विकास कार्य का नीवं पत्थर रखा था ।

लेकिन उसके बाद कोड आफ कंडक्ट लगने व अन्य कुछ कारणों के चलते काम पूरा नहीं हो सका, फिर पंजाब में काग्रेस सरकार के काबिज होने पर प्रदेशाध्यक्ष सुनील जाखड़ के प्रयास से अबोहर पहुंचें पूर्व निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिधू ने इस मार्ग पर पर पुन: सीवरेज डालने और सड़क निर्माण कार्य के शुभारंभ का उद्घाटन किया उस बात को भी अब 3 वर्ष बीत गए लेकिन सड़क निर्माण कार्य आज तक पूरा नहीं हुआ, जिस कारण न सिर्फ ठाकर आबादी के लोगों को नरकीय जीवन जीना पड़ रहा है।

कंपनी अधिकारी ने एसडीएम से शुक्रवार तक अधूरे कार्य को पूरा करने का मांगा समय | Protest

  • सूचना मिलने पर दोनों थानों के प्रभारी सुनील कुमार व चंद्रशेखर मौके पर पहुंचे व उन्हें धरना उठाने का आग्रह किया
  • धरना कारी अपनी मांग पर अडिग रहे, जिस पर एसडीएम पूनम सिंह मौके पर पहुंची
  • उन्होंने उनकी भी बात मानने से इंकार कर दिया
  • करीब 3 घंटे तक जाम लगा रहने से दोनों और लंबी लंबी कतारें लग गई।
  • लोगों के रोष को देखते हुए एसडीएम खुद उनके साथ उनके मोहल्ले में गई
  • वहां के बुरे हाल को देखते हुए सीवरेज बोर्ड के एक्सईएन जुगल किशोर को बुलाकर कहा
  • वे तुरंत कंपनी के अधिकारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करें
  • कंपनी अधिकारी इस काम को पूरा करने में रूचि नहीं दिखा रहे, जिसका खामियाजा लोगो को भुगतना पड़ रहा है।

गौरतलब है कि कंपनी अधिकारियों की लापरवाही के चलते ठाकर आबादी और पुरानी फाजिल्का रोड में काम अधूरा पड़ा होने से लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है लेकिन ठाकर आबादी का इलाका रिहायशी होने के कारण यहां के लोग सबसे अधिक संताप झेल रहे हैं।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।