वाहनों की पासिंग की फाईलें एसडीएम कार्यालय में अटकी

0
Passing-files

समस्या : लोग हो रहे परेशान, अधिकारी दे रहे आश्वासन

ओढां(सच कहूँ/राजू)। कालांवाली के एसडीएम कार्यालय में वाहनों की पासिंग का कार्य पिछले कई माह से बंद पड़ा है। ऐसे में लोगों को भारी परेशानी झेलनी पड़ रही है। इसका मुख्य कारण परिवहन विभाग द्वारा नियुक्त अधिकारी का पद रिक्त होना है। ऐसे में कार्यालय में लोगों की फाईलें दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। वाहन चालक जब कार्यालय में संपर्क करते हैं तो कर्मचारी उन्हें ये जवाब दे रहे हैं कि ये कार्य रोडवेज विभाग को सौंप दिया गया है। अब रोडवेज के कर्मचारी कार्यालय में कब आएंगे, इस बारे किसी के पास कोई ठोस जवाब नहीं है। दरअसल कोई भी व्यक्ति जब नया वाहन लेता है तो इसके लिए उपमंडल कार्यालय से उसका रजिस्ट्रेशन करवाना अनिवार्य है।

इसके अलावा वाहन की फिटनेस जांच परिवहन विभाग के अधिकारी द्वारा ही की जाती है। लेकिन कालांवाली के एसडीएम कार्यालय में वाहन जांच अधिकारी की स्थाई नियुक्ति न होने के कारण लोगों को अपना वाहन रजिस्ट्रेशन करवाने मेंं परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि केन्द्रीय परिवहन मंत्री द्वारा लॉकडाउन के चलते वाहनों की पासिंग पर जुर्माने के रूप में 31 दिसंबर तक अतिरिक्त चार्ज न लेने के आदेश दिए गए हैं, लेकिन वाहन चालक पुलिस द्वारा किए जाने वाले चालान से भयग्रस्त हैं।

डिजीटल इंडिया को ठेंगा

केन्द्रीय परिवहन मंत्री द्वारा हिदायतों में वाहन चालक के पास रजिस्ट्रेशन प्रमाण-पत्र की हार्ड कॉपी होना अनिवार्य नहीं है। लेकिन एसडीएम कार्यालय के सम्बंधित अधिकारी इन हिदायतों को नजर अंदाज कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि जब वे वाहन विक्रेता या खरीददार के दस्तावेज मोबाईल पर मंगवाकर उसका प्रिंट निकलवाकर कार्यालय में देते हैं तो अधिकारी उक्त दस्तावेजों को न मानकर आॅरिजनल दस्तावेजोंं का प्रिंट मांगते हैं। उन्होंने कहा कि अगर दस्तावेजों में कोई कमी है तो उन्हें आॅनलाईन भी चैक किया जा सकता है। उनका कहना है कि सरकार डिजीटल इंडिया की बात कह रही है लेकिन यहां डिजीटल इंडिया को ठेंगा दिखाया जा रहा है। ‘

वाहनों की जांच के लिए 3 दिन पूर्व एक फोरमैन के आॅर्डर किए गए हैं। उक्त अधिकारी के पास फतेहाबाद, ऐलनाबाद, कालांवाली, सरसा व डबवाली सहित 5 उपमंडलों का कार्यभार है। अधिकारी 2 दिन सरसा व 2 दिन फतेहाबाद कार्य करेंगे। कार्य ज्यादा होने के चलते परेशानी आना स्वाभाविक है। हमनें इस बारे सरकार को लिखा हुआ है।
-आरएस पूनियां, महाप्रबंधक (हरियाणा रोडवेज)

वाहनों की पासिंग का कार्य परिवहन निगम के पास है। हमनें निगम को पत्र लिखकर यहां अधिकारी को नियुक्त करने के लिए कहा हुआ है। हां अधिकारी के न बैठने के कारण लोगों को परेशानी आना स्वाभाविक है। हम इस बारे जीएम रोडवेज को रिमाइंडर भेजेंगे।
– लखवीर सिंह, उपमंडल अधिक्षक (एसडीएम कार्यालय)।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।