राजस्थान

चार संदिग्ध जासूसी मामला: पाक सिम, नक्शे व डायरी बरामद

SIM, Map, Diary, Recovered, Detective Case, Rajasthan

जयपुर (सच कहूँ न्यूज)। प्रदेश से जुड़ी अंतरराष्ट्रीय सीमा के बाडमेर व जैसलमेर जिले पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए मुख्य केन्द्र बनते जा रहे है। दो साल में इन दो जिलों में दर्जनभर पाकिस्तानी जासूस पकड़े जा चुके है। बुधवार को बॉडर से सटी कूरियाबेरी फायरिंग रेंज के पास जासूसी के आरोप में पकड़े गए नबिया खान व रमजान खान से पूछताछ के बाद स्थानीय पुलिस व बीएसएफ इंटेलीजेंस ने वीरवार सुबह नबिया के घर के पीछे जमीन में गाड़ कर रखी गई पाकिस्तानी दो सिम कार्ड, दो नक्शे और एक डायरी बरामद की है।

क्या बोली सुरक्षा एजेंसी

सुरक्षा एजेंसियों का दावा है जैसलमेर में पूर्व में आईएसआई के लिए काम करने के मामले में गिरफ्तार हो चुके बेरियम खान के तार रमजान व नबिया खान से जुड़े है। यह दोनों उसके रिश्तेदार है। बीएसएफ ने इन दोनों को कूरियाबेरी रेंज के पास संदिग्ध हालत में घूमते पकड़ा था। इनकी निशानदेही पर ही नबिया के घर से दस्तावेज व सिम कार्ड बरामद किए गए है। इन सिम कार्ड से नबिया व रमजान बॉर्डर के पास जाकर पाकिस्तान में फोन पर सैन्य क्षेत्र की जानकारी आईएसआई को देते थे।

नहीं किया कोई खुलासा

निषेध क्षेत्र में घूमते मिले इन दोनों के बारे में अभी तक पुलिस या बीएसएफ की तरफ से बड़ा खुलासा नहीं किया गया है। माना जा रहा है कि शाम को नबिया व रमजान की गिरफ्तारी दिखाई जा सकती है।

हाजी खान से शुरू हुई पूछताछ

पाकिस्तान में रिश्तेदार घर रह कर आईएसआई से जासूसी की ट्रेनिंग लेने वाले व बाडमेर से पकड़े गए हाजी खान की तबीयत में सुधार होने के बाद अब राज्य खुफिया एजेंसी ने उससे पूछताछ शुरू कर दी है। आपको बता दे कि हाजी खान को सीआईडी व इंटेलीजेंस की टीम ने तकरीबन एक माह पहले बाडमेर से गिरफ्तार किया था। पुलिस की निगरानी में उपचार के बाद अब हाजी की तबीयत में सुधार हुआ तो एक टीम जोधपुर में उससे पूछताछ कर रही है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top

Lok Sabha Election 2019