पंजाब में मौत का तांडव जारी, मृतकों आंकड़ा बढ़कर पहुंचा 98

0
Orgy of death continues in Punjab, death toll rises to 98

तरनतारन में 75, अमृतसर में 12 और बटाला में 11 मौत

  • पुलिस के हाथ अभी तक नहीं लगी बड़ी मछली, राजनीतिक लोगों पर उठ रही है उंगली

अश्वनी चावला चंडीगढ़। पंजाब में जहरीली शराब से मौत का तांडव लगातार जारी है, जिस कारण मौतों की गिनती अब 98 तक पहुंच चुकी है जबकि 2 दिन पहले तक यह 38 ही बताई जा रही थी और उस समय ऐसा नहीं लग रहा था कि नकली शराब पीने से लोगों की गिनती 100 के करीब पहुंच जाएगी परंतु अब यहां तक कहा जा रहा है कि मौतों की गिनती और भी अधिक बढ़ सकती है क्योंकि शुरूआत में लोगों ने पुलिस को बिना बताए ही अपने परिजनों का संस्कार तक कर दिया था परंतु अब प्रशासन की तरफ से इस मामले को लेकर जांच व मुआवजा देने की बात कहने के पश्चात ही लोग सामने आकर मौत के बारे में जानकारी दे रहे हैं। अभी तक मिली जानकारी के अनुसार तरनतारन में 75, अमृतसर में 12 और बटाला में 11 मौत होने की बात बताई जा रही है।
पिछले 72 घंटों से इस पूरे मामले को लेकर पंजाब भारत में हो रहे हंगामे के बीच में पंजाब पुलिस के हाथ कोई बड़ी मछली नहीं लगी है जिसको लेकर प्रदेश सरकार यह कह सके कि इस जहरीली शराब के मुख्य दोषियों को न सिर्फ उन्होंने गिरफ्तार कर लिया है बल्कि इस पूरे मामले को हल भी कर दिया है अभी तक पंजाब पुलिस की तरफ से प्रदेश भर के कई जिलों में छापेमारी जारी है और 25 के करीब गिरफ्तारियां भी हुई है परंतु इस मामले में स्पष्ट किसी भी तरह की जानकारी पंजाब पुलिस या पंजाब सरकार की तरफ से नहीं दी जा रही है वहीं दूसरी तरफ यह मामला अब राजनीतिक रंग में भी रखता नजर आ रहा है विपक्षी पार्टियों की तरफ से मौजूदा कांग्रेस सरकार के विधायकों व उनसे संबंधित लोगों पर आरोप-प्रत्यारोप लगाए जा रहे हैं यहां तक कहा जा रहा है कि इस पूरे मौत के तांडव के पीछे राजनीतिक संरक्षण हासिल करने वाले लोग ही शामिल है और उनके खिलाफ पहले भी कोई कार्रवाई नहीं हुई है और अब भी कोई सख्त कार्रवाई होने की आस नहीं है।
आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भगवंत मान ने तो सीधे तौर पर राजनीतिक लोगों का नाम लेते हुए नया सिर्फ उन्हें कटघरे में खड़ा किया है बल्कि पंजाब पुलिस के सामने भी उनकी गिरफ्तारी करने की मांग रख दी है।

सीबीआई की हो जांच : केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी इस पूरे मामले में राजनीतिक लोगों की सहूलियत होने का शक जाहिर करते हुए पूरे मामले की जांच केंद्रीय जांच एजेंसी से करवाने की मांग कर डाली है उन्होंने कहा है कि यह दुख की बात है कि जहरीली शराब से 98 लोग मौत का शिकार हो चुके हैं ऐसे में दोषियों को सजा दिलाने के लिए सीबीआई की जांच होना जरूरी है ताकि पूरे नेक्सेस का पर्दाफाश हो सके।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।