किसान कानून अडानी और अंबानी को फायदा देने के लिए बनाए : राहुल

0
Rahul
देवीलाल बारना\सुनील वर्मा कुरुक्षेत्र\सरसा। देश में नए कृषि कानून के खिलाफ प्रदर्शन जारी है। मंगलवार को सरसा में किसानों का प्रदर्शन हुआ। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए आसूं गैस के गोले और वाटर कैनन का इस्तेमाल किया गया। वहीं पंजाब से सटी हरियाणा की सीमा पर मंगलवार को चले हाई वोल्टेज ड्रामा के बीच हरियाणा के अधिकारियों ने आज कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और कुछ पार्टी नेताओं की रैली को भाजपा शासित राज्य में प्रवेश करने की अनुमति दे दी। पटियाला के सन्नौर में अपनी आखिरी रैली को समाप्त करने के बाद राहुल गांधी ने अपनी “खेत बचाओ यात्रा” के समापन के दिन हरियाणा की सीमा तक पहुंचने के लिए ट्रैक्टर चलाया। अखिल भारतीय कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि हरियाणा पंजाब और पूरे देश का किसान समझ रहा है कि नोटबंदी, जीएसटी और काले किसान कानून अडानी और अंबानी को फायदा देने के लिए बनाए गए हैं। मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए राहुल गांधी ने कहा कि किसानों से उनका हक छीनकर अड़ानी और अंबानी को दे रहे हैं।
राहुल गांधी मंगलवार को हरियाणा दौरे के दौरान पिहोवा की अनाज मंडी में संबोधित कर रहे थे। इससे पूर्व हरियाणा पंजाब बोर्डर पर राहुल गांधी की खेती बचाओ यात्रा को पुलिस प्रशासन ने लगभग आधे घंटे रोके रखा। इस दौरान प्रशासन ने कहा कि राहुल गांधी टे्रक्टर पर जाने की बजाए कार में जाएं और अपने पंजाब से साथ आए कार्यकतार्ओं को वापिस भेज दें। लेकिन पंजाब के कार्यकर्ता अडे रहे। इस दौरान राहुल ने टे्रक्टर पर कार्यकतार्ओं के साथ जाने की बात कही। आधे घंटे की मशक्कत के बाद राहुल को पांच टे्रक्टरों सहित हरियाणा प्रवेश की इजाजत मिली। यहां पहुंचने पर हरियाणा के कार्यकतार्ओं ने ढोल ढमाकों से स्वागत किया।
कांग्रेस प्रदेशाध्यक्षा कुमारी सैलजा ने टे्रक्टर चलाया व राहुल गांधी साईड में बैठे। इस दौरान टे्रक्टर पर राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला, सांसद दीपेंद्र हुड्डा भी बैठे। राहुल गाधी ने पिहोवा अनाज मंडी में आढ़तियों व किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 6 साल से सरकार है और उन्होंने कुछ नहीं किया। कुछ साल पहले नरेंद्र मोदी ने कहा था 15-15 लाख रुपए खाते में आएंगे लेकिन नहीं आए। नोटबंदी कराई, लोगों को लाइन में खड़ा किया। हिंदुस्तान के सबसे अमीर लोगों का कर्जा माफ किया लेकिन छोटे दुकानदार का एक रुपया भी माफ नहीं हुआ। जीएसटी से अडानी और अंबानी को फायदा हुआ और किसी को फायदा नहीं हुआ। व्यापार बिजनेस लोगों के संबंध में नरेंद्र मोदी कुछ नहीं बोले, जबकि अब किसानों के ऊपर आक्रमण किया है। नरेंद्र मोदी किसानों को अगर ऐसी बात है तो पंजाब हरियाणा राजस्थान यूपी के किसान आंदोलन क्यों कर रहे हैं।
इस संबंध में राज्यसभा और लोकसभा में डिबेट क्यों नहीं की। उन्होंने कहा मोदी जी गलत सोचते हैं किसान किसी से नहीं डरता। यह किसी भी हालत में पीछे नहीं हटने वाला है। प्रधानमंत्री को गलतफहमी है वह सोचते हैं कि हिंदुस्तान का किसान खड़ा नहीं होगा, दब जाएगा। लेकिन हिंदुस्तान के किसान को नहीं पहचान रहे हैं हिंदुस्तान का किसान संघर्ष के लिए निकल चुका है। एमएसपी व मंडियों का जो सिस्टम है वह किसानों की रक्षा के लिए बनाया गया था। यह चेन है इसमें अलग-अलग कडिय़ां हैं एक भी कड़ी तोड़ दी तो यह सिस्टम टूट जाएगा। उन्होंने कहा मोदी कहते हैं कि मंडियों की कोई जरूरत नहीं है। हिंदुस्तान में हजारों मंडियां हैं जिनमें लाखों लोग काम करते हैं। मजदूर छोटे व्यापारी हैं, अगर मंडी खत्म हो जाएगी तो यह लोग बेरोजगार हो जाएंगे इनको रोजगार कौन देगा।
उन्होंने कहा कि आज किसान अपना माल मंडी में जाकर बेचते हो वहां पर आप जाकर के शिकायत कर सकते हो। किसी अधिकारी के पास जा सकते हो। लेकिन जब ये कानून लागू हो जाएंगे तो एक तरफ अदानी मिलेगा एक दूसरी तरफ अंबानी। कोई आॅफिसर मदद नहीं करेगा। पुलिस में आप शिकायत नहीं कर सकते। आपकी रक्षा का सिस्टम एक बार टूट गया तो आप को आप की फसल का सही दाम नहीं मिलेगा। आप की जमीन आहिस्ता आहिस्ता आपसे छीन ली जाएगी। वहां बड़े बड़े मॉल बनेंगे उसके फ्लेट्स बनेंगे। लेकिन किसान और उसके बच्चे बेरोजगार हो जाएंगे। किसानों के बच्चे ना उसमें घुस पाएंगे और ना वह फ्लैट खरीद पाएंगे। हम चाहते हैं कि आपको सही दाम मिले एमएसपी रहे।

पटियाला: यदि स्वतंत्र प्रैस और स्वतंत्र संस्थाएं मुझे दे दो तो मोदी सरकार का देर तक टिकना मुश्किल : राहुल गांधी

कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने कहा है कि मुझे स्वतंत्र प्रैेस और अहम संस्थाएं दे दो और फिर देखिये मोदी सरकार लम्बे समय तक नहीं टिक सकेगी। उन्होंने कहा कि कोई देश लोगों की आवाज बनने के लिए विपक्ष ,मीडिया, न्यायिक प्रणाली और संस्थाओं समेत एक ढांचे में रह कर काम करता है। भारत में समूचे ढांचे को भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने कंट्रोल किया हुआ है और आवाम की आवाज बनने के लिए बनायी गई रूपरेखा को हथिया लिया गया है। यदि मुझे स्वतंत्र प्रैस और स्वतंत्र संस्थाएं दे दो तो मोदी सरकार बहुत देर तक नहीं टिक सकेगी। राहुल ने कहा कि सरकार ने चाहे संस्थाओं पर कब्जा कर लिया हो लेकिन वो किसानों, नौजवानों और छोटे व्यापारियों पर कंट्रोल नहीं कर सकती ।

कृषि अध्यादेशों के समर्थन में 9 को ट्रैक्टर रैली निकालेगी भाजपा

कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब, हरियाणा समेत देश के विभिन्न हिस्सों में किसान आंदोलन के बीच भारतीय जनता पार्टी ने नौ अक्तूबर को कानूनों के समर्थन में ट्रैक्टर रैली निकालेगी। राज्यसभा सदस्य डीपी वत्स ने हांसी में पत्रकारों से बातचीत में यह जानकारी दी। उन्होंने आरोप लगाया कि कि विपक्षी दल किसानों को बहकाने का काम कर रहे हैं। वत्स ने कहा कि विपक्ष के ‘दुष्प्रचार’ का जवाब देने, किसानों को जागरूक करने और कृषि अध्यादेशों के पारित होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद करने के लिए भाजपा की तरफ से प्रत्येक लोकसभा क्षेत्र में ट्रैक्टर रैली निकाली जाएगी।

यह भी पढ़े – पंचायत चुनाव के तीसरे चरण का मतदान शांतिपूर्ण जारी

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।