पंजाब

सरकार के रंग: पहले छत से लगवाई छलांग, फिर कुशलक्षेम जानने पहुंचे

Nurses and Employees,Protested, Punjab

धक्कामुक्की में ही पुलिस ने ब्रह्म महेन्द्रा व परनीत कौर को बाहर निकाल कर गाड़ी में बिठाया

  • नर्सों व कर्मचारियों ने किया विरोध

पटियाला(खुशवीर सिंह तूर)।

पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री ब्रह्म महेन्द्रा व मुख्य मंत्री की धर्मपत्नी परनीत कौर को अपने शहर में ही शुक्रवार को उस समय भारी विरोध का सामना करना पड़ा, जब वह राजिन्द्रा अस्पताल में छत से छलांग लगाने वाली घायल नर्सों का कुशलक्षेम जानने के लिए पहुंचे हुुए थे। आलम यह रहा कि वापसी मौके एसएसपी पटियाला सहित अन्य अधिकारियों की तरफ से धक्का मुक्की में ही ब्रह्म महेन्द्रा व परनीत कौर को गाड़ी में बिठा कर बाहर निकालना पड़ा। विरोध करने वाली नर्सों ने कहा कि पहले छलांग लगवा दी गई और बाद में कुशलक्षेम जानने के लिए पहुंच गए।

नर्साें ने कहा, सिर्फ झूठी हमदर्दी ही दिखाने आए ब्रह्म महेन्द्रा व परनीत कौर

जानकारी अनुसार अपनी रेगुलर की मांग पूरी न होने के बीते दिन तीन सप्ताहों से राजिन्द्रा अस्पताल की छत पर चढ़ी अध्यक्ष करमजीत कौर औलख व बलजीत कौर खालसा की ओर से नीचे छलांग लगा दी गई थी। वैसे उनके बचाव के लिए प्रशासन की ओर से गद्दे बिछाऐ हुए थे, परंतु इतनी दूरी से नीचे गिरने के कारण वह घायल हो गई थीं जिनको कि एमरजैंसी में दाखिल करवाया गया था। इन नर्सों का कुशलक्षेम जानने के लिए सेहत मंत्री ब्रह्म महेन्द्रा व परनीत कौर दोपहर के समय पर राजिन्द्रा अस्पताल पहुंचे।

उनके आने से पहले ही भारी संख्या में पुलिस फोर्स राजिन्द्रा अस्पताल में तैनात कर दी गई। इस दौरान ब्रह्म महेन्द्रा व परनीत कौर जब एमरजैंसी में घायल नर्सों का कुशलक्षेम जानने के लिए अंदर गए तो एमरजैंसी के बाहर नर्सें, दर्जा चार कर्मचारी व ऐनसिलरी स्टाफ ने ब्रह्म महेन्द्रा मुर्दाबाद, परनीत कौर मुुर्दाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए।

इस मौके यह कर्मचारी इतने गुस्से में थे कि वह मंत्री के बाहर आने तक नारेबाजी करते रहे और पुलिस प्रशासन देखता ही रहा। जब ब्रह्म महेन्द्रा व परनीत कौर बाहर निकले तो इन कर्मचारियों ने मंत्री व परनीत कौर को घेरने की कोशिश की। एसएसपी मनदीप सिंह सिद्धू व एसपीडी सहित अन्य फोर्स की ओर से कर्मचारियों की धक्का मुक्की में ही भारी जदोजहद के बाद इन दोनों को गाड़ी में बिठा कर बाहर निकाला गया। इस मौके नर्सिंग एसो. की नेता मनप्रीत कौर ने कहा कि पहले तो हमारी बहनों को इन के रवैये के कारण ही छलांग लगानी पड़ी व अब यह किस बात का पता लेने के लिए पहुँचे हैं।

दुर्रव्यवहार के बाद पत्रकारों ने प्रैस कांफ्रेंस का किया बायकाट

स्वास्थ्य मंत्री राजिन्द्रा अस्पताल के सामने मैडीकल कालेज में कालेज प्रशासन के साथ मीटिंग करने के लिए पहुँचे और वहां मीडिया को बातचीत के लिए कहा गया। जब पत्रकार मैडीकल कालेज जाने लगे दिया मुख्य गेट को ्रक्योरिटी की ओर से ताला लगा दिया गया। इस के बाद एसपीडी को कहने पर उक्त गेट का ताला खोला गया। इस के बाद जब अन्य पत्रकार आए तो सिक्योरिटी गार्डाें सहित पुलिस ने गेट खोलने से मना कर दिया गया और कहा कि वह दूसरे गेट से आएं।

इस के बाद सिक्योरिटी गार्डाें गारडें की ओर से पुलिस की उपस्थिती में पत्रकारों के साथ दुर्रव्यहार किया गया। इस मौके थाना सिविल लाईन की सब इंस्पेक्टर रणजीतपाल कौर मौजूद थे परंतु उनकी तरफ से सिक्योरिटी गार्डों को रोकने की बजाय इसे अनदेखा कर दिया, जिसके बाद पत्रकार भाईचारे में रोष फैल गया। इस सभी घटनाक्रम के बाद समूह पत्रकार भाईचारे ने ब्रह्म महेन्द्रा की कान्फ्रÞेंस का बायकाट कर दिया। इस मौके पत्रकारों ने कहा कि यदि आगे से पत्रकारों के साथ ऐसा दुर्रव्यवहार हुआ तो प्रशासन के हर कार्य का बायकाट किया जाएगा।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।,

 

लोकप्रिय न्यूज़

To Top