अब बिना बिजली और बिना डीजल के सोलर पंप से सिंचित होगी फसल

0

योजना : लाभ उठाने के लिए 9000 किसानों ने करवाया पंजीकरण

  •  31 अक्टूबर तक राशि जमा नहीं करवाई तो साइट से हट जाएगा नाम आवेदक का नाम

सच कहूँ/सुनील वर्मा सरसा। सौलर पंप योजना के तहत खेत को बिना डीजल व बिना बिजली के सिंचित करने वाले किसानों को 31 अक्टूबर तक राशि जमा करवानी होगी। अगर मार्च माह में आवेदन करने वाले किसान ड्राफ्ट जमा नहीं करवाते है तो उनका नाम विभाग की साइट से हटा दिया जाएगा। जिला के किसान खासकर इस योजना में काफी रूचि दिखा रहे है। उपरोक्त योजना को लाभ लेने के लिए जिले में करीब 9000 तो प्रदेशभर में 30 हजार किसान आवेदन कर चुके है। अब तक जिला में करीब 300 सोलर पंप लगाए जा चुके है। जिले में 3200 पंप सैट लगाने का लक्ष्य रखा गया है। विभाग का मानना है कि उत्पादन लागत कम करने तथा उत्पादकता को बढ़ाने में उक्त योजना काफी कारगर साबित होगी। क्योंकि इससे सिंचाई बिना डीजल व बिना बिजली का पैसा खर्च किए खेतों की सिंचाई हो सकेगी।

किसानों को जहां सोलर पंप 75 प्रतिशत अनुदान पर दिए जा रहे है

इसके लिए अनुदान परसोलर पंप लगवाए जाएंगे। तीन, पांच, 7.5 व 10 हार्स पावर के एसी व डीसी सोलर पंप पर विभाग की ओर से 75 प्रतिशत तक अनुदान दिया जा रहा है। सोलर पंप योजना का ज्यादा से ज्यादा किसान फायदा उठा सकें, इसके लिए जिला परियोजना अधिकारी द्वारा जिला के अतिरिक्त उपायुक्त के साथ मिलकर अनेक प्रयास किए जा रहे है। किसानों को जहां सोलर पंप 75 प्रतिशत अनुदान पर दिए जा रहे है। वहीं शेष बची राशि के लिए भी किसानों को कोई परेशानी न आए इसके लिए विभाग द्वारा आईडीबीआई बैंक से किसानों को लोन की सुविधा दी जा रही है।

Solar pump scheme

जिन किसानों ने मार्च 2020 में योजना के लिए आवेदन किया था। वह 31 अक्टूबर तक अनुदान के बाद शेष राशि का बैंक ड्राफ्ट बना कर जमा करवाना होगा। खेत को बिना बिजली व बिना डीजल के सिंचित करने के लिए नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग द्वारा सोलर पंप योजना से किसानों को फायदा मिल रहा है। योजना के तहत अब तक सरसा में 9000 किसानों ने आवेदन किया है। अभी तक 300 पंप सैट लगाए भी जा चुके है।
– मनोज जैन, जिला परियोजना अधिकारी।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।