हरियाणा: अब छात्राओं के कॉलेजों में बनेंगे पासपोर्ट और ड्राईविंग लाइसेंस

0
Every Sar Helmet Program

सीएम मनोहर लाल ने अपने विधानसभा क्षेत्र से की ‘हर सर हेलमेट’ कार्यक्रम की शुरूआत (Every Sar Helmet Program)

सच कहूँ/विजय शर्मा करनाल। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने शनिवार को करनाल से हरियाणा की बेटियों के लिए मनोहर कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि अब कॉलेज की महिला छात्राएं जब स्नातक होकर पासआउट करेंगी, उसे पासपोर्ट देकर भेजा जाएगा और इसकी सारी प्रक्रिया कॉलेज में ही पूरी की जाएगी। युवा यातायात नियमों के प्रति जागरूक हों, इसके लिए प्रदेश के प्रदेश के महाविद्यालयों में अध्ययनरत प्रत्येक विद्यार्थी को नियमों की जानकारी देने के साथ-साथ उनके शिक्षण संस्थान में ही ड्राईविंग लाईसेंस प्रदान किए जाएंगे। यह घोषणा शनिवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने करनाल के डॉ. मंगलसेन आॅडिटोरियम में, स्कूल, कॉलेज व आईटीआई के 18 से 25 साल की आयु के युवाओं को लर्निंग लाईसेंस व स्टड कम्पनी का हेलमेट वितरण करने के ‘हर सर हेलमेट’ कार्यक्रम में की।

डॉ. मंगलसेन आॅडिटोरियम में 137 युवाओं को वितरित किए लर्निंग लाईसेंस व हेलमेट

कार्यक्रम का आयोजन करनाल लोकसभा के सांसद संजय भाटिया ने अंतररार्ष्ट्रीय हेलमेट निर्माण कम्पनी स्टड के सहयोग से किया गया था, जिसमें 137 युवाओं को लर्निंग लाईसेंस व हेलमेट वितरित किए गए। कार्यक्रम में दौरान सांसद संजय भाटिया, घरौंडा विधायक हरविन्द्र कल्याण, इंद्री विधायक रामकुमार कश्यप, नीलोखेड़ी विधायक धर्मपाल गोंदर, मुख्यमंत्री के राजनैतिक सचिव एवं पूर्व मंत्री कृष्ण कुमार बेदी, भाजपा के प्रदेश महामंत्री वेदपाल एडवोकेट, जिलाध्यक्ष जगमोहन आनंद सहित अन्य उपस्थित रहे।

हरियाणा में हर रोज 13 व्यक्तियों की सड़क दुर्घटना में जाती है जान

मुख्यमंत्री ने बताया कि देश में हर वर्ष बड़ी संख्या में सड़क दुर्घटनाएं होती हैं, इनमें प्रतिदिन 1300 दुर्घटनाएं बताई गई हैं, जिनमें बिना हेलमेट के ड्राईव करने वाले अधिकांश व्यक्तियों की मृत्यु हो जाती है। जहां तक हरियाणा की बात है, यहां साल में करीब साढे 4 हजार रोड एक्सीडेंट होते हैं, जिनमें प्रतिदिन 13 व्यक्ति असमय मौत का शिकार हो जाते हैं। इसका मुख्य कारण सिर और उसके अंदर ब्रेन डैमेज होना होता है। सीएम ने कहा कि अध्ययन बताते हैं कि सड़क पर चलते समय यदि व्यक्ति हेलमेट पहने तो एक्सीडेंट की सूरत में उसका 80 प्रतिशत बचाव सम्भव है।

अंतरिक्ष परी कल्पना चावला के चित्र का किया अनावरण

मुख्यमंत्री ने इस कार्यक्रम से पहले डॉ. मंगलसेन आॅडोटोरियम के सभागार की करीब 35 फुट ऊंची दीवार पर आंतरिक्ष वैज्ञानिक कल्पना चावला के चित्र का अनावरण किया। यह कार्य नगर निगम द्वारा करवाया गया। इस मौके पर आॅडोटोरियम परिसर में मुख्यमंत्री ने रूद्राक्ष का पौधा लगाकर स्वच्छ पर्यावरण का संदेश दिया। वहीं आॅडोटोरियम के सभागार में आयोजित कार्यक्रम में कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय ललित कला विभाग के अध्यक्ष डॉ. राम विरंजन द्वारा मुख्यमंत्री को सड़क सुरक्षा का प्रतीक एक पेंटिंग भेंट की।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।