अब जियो चैनल की मदद से पढ़ेंगे बच्चे

0
Now children will study with the help of Jio channel

ऑनलाइन शिक्षा से जुड़े सरकारी स्कूलों के करीब 77 हजार बच्चे

  • लगातार निगरानी कर रहा शिक्षा विभाग
भिवानी सच कहूँ/इन्द्रवेश दुहन। कोरोना महामारी संक्रमण के दौरान बच्चों की पढ़ाई के प्रति शिक्षा विभाग पूरी तरह से गंभीर है। जिला के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले करीब 77 हजार बच्चे ऑनलाइन शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। इनमें 60 प्रतिशत बच्चे डीटीएच यानि केबल नेटवर्क से और 40 प्रतिशत बच्चे मोबाईल के माध्यम से शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। शिक्षा अधिकारी रोजाना बच्चों से बातचीत करके उनके पढ़ाई का फीडबैक ले रहे हैं। आने वाले समय में सरकारी स्कूलों के बच्चे जीओ चैनल के माध्यम से भी पढ़ाई करेंगे, जिसके लिए सरकार का टाईएप हो चुका है।

लॉकडाउन के चलते उठाना पड़ा कदम

उल्लेखनीय है कि कोरोना महामारी संक्रमण के चलते मार्च महीने के अंतिम सप्ताह से लॉकडाउन लागू हो गया था, जिसके चलते बच्चों का स्कूल जाना बंद हो गया था। इसके बाद जिला में 755 स्कूलों के करीब 77 हजार बच्चे ऑनलाइन शिक्षा से जुड़े हैं। इनमें करीब 60 प्रतिशत बच्चे केवल नेटवर्क से और 40 प्रतिशत बच्चे मोबाईल से शिक्षा हासिल कर रहे हैं। इनमें प्राइमरी, मिडल, सैकेंडरी और सीनियर सैकेंडरी के बच्चे शामिल हैं।

रोजाना 20 बच्चों से बात करते हैं अधिकारी

शिक्षा विभाग द्वारा शिक्षण कार्य की प्रति दिन निगरानी भी की जाती है। बच्चों की पढ़ाई की मॉनीटरिंग के लिए शिक्षा अधिकारी प्रतिदिन 20-20 बच्चों से बातचीत करते हैं और उनको पढ़ाए जाने वाले सिलेबस का फीडबैक लेते हैं। स्वयं जिला शिक्षा अधिकारी अजीत सिंह श्योराण भी प्रतिदिन 20 बच्चों से मोबाईल पर बात करते हैं। इसी प्रकार से खंड शिक्षा अधिकारी, एपीसी और डीएमसी और डाईट से शिक्षा अधिकारी बच्चों को फोन करके उनसे फीडबैक लेते हैं। ऑनलाइन शिक्षा ही नहीं विभाग द्वारा क्वीज भी करवाई जाती है। हर शनिवार को कक्षा 9वीं, 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षा विद्यार्थियों के बीच साइंस, गणित और बॉयोलॉजी आदि विषयों की क्विज प्रतियोगिता आयोजित करवाई जाती है। उसी दिन शाम को क्विज का परिणाम घोषित किया जाता है। इसकी मुख्यालय को उसी दिन रिपोर्ट भी भेजी जा रही है। आने वाले समय में बच्चे जीओ चैनल के माध्यम से भी शिक्षा हासिल करेंगे। इसके लिए सरकार का जीओ चैनल से टाईअप हो चुका है।

क्या कहते हैं जिला शिक्षा अधिकारी

जिला शिक्षा अधिकारी अजीत सिंह श्योराण ने बताया कि सरकार एवं उपायुक्त अजय कुमार के निर्देशानुसार जिला में शिक्षा विभाग द्वारा बच्चों की पढ़ाई की पूरी गंभीरता से मॉनीटरिंग की जा रही है। जिन बच्चों के घरों में टीवी नहीं, उनको मोबाईल के माध्यम से तथा जिनके पास स्मार्ट फोन नहीं है, उनको कीपैड फोन के माध्यम से भी पढ़ाया जा रहा है। हर बच्चे की परेशानी को समझा जा रहा है। आने वाले समय मेंं बच्चे जीओ चैनल के माध्यम से भी शिक्षा हासिल करेंगे, इस पर सरकार का समझौता हो चुका है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।