भाजपा-जजपा के किसी भी नेता को नहीं फहराने दिया जाएगा राष्ट्रीय ध्वज

0
119
No BJP-JJP leader will be allowed to hoist the national flag

ट्रैक्टर मार्च: 26 का मास्टर प्लान तैयार

  • कैनाल रेस्ट हाऊस में हुई किसान नेताओं व प्रशासनिक अधिकारियों की बैठक

  • किसान नेता बोले, प्रशासनिक अधिकारी व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी फहराएंगे तिरंगा तो करेंगे स्वागत

सच कहूँ/नवीन मलिक रोहतक। केन्द्र सरकार द्वारा तीन कृषि कानूनों को रद्द करने व एमएसपी पर कानून बनाने की मांग को लेकर किसानों ने प्रस्तावित 26 जनवरी को दिल्ली में ट्रैक्टर मार्च निकालने को लेकर मास्टर प्लान तैयार कर लिया है। किसानों का साफ कहा है कि इस बार गणतंत्र दिवस पर भाजपा-जजपा के किसी भी नेता को तिरंगा नहीं फहराने दिया जाएगा। साथ ही किसानों ने यह भी कहा कि अगर कोई प्रशासनिक अधिकारी व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी तिरंगा फहराएंगा तो वह उसका स्वागत करेंगे।

बुधवार को कैनाल रेस्ट हाऊस में जिले के प्रशासनिक अधिकारियों व किसान संगठनों के नेताओं की अहम बैठक हुई। किसानों ने कहा कि जब तक सरकार इन तीन काले कानूनों को रद्द नहीं करती है, तब तक उनका आंदोलन जारी रहेगा और भाजपा-जजपा नेताओं का इसी तरह लोगों के विरोध का सामाना करना पड़ेगा। किसानों ने कहा कि सरकार टकराव की स्थिति न पैदा करे और तुरंत इन तीन काले कानूनों को रद्द कर दे। साथ ही हर हाल में 26 जनवरी को दिल्ली में भी ट्रैक्टर मार्च निकाला जाएगा।

तिरंगा फहराने का प्रयास किया तो गंभीर होंगे परिणाम

भारतीय किसान यूनियन अंबावता के प्रदेश अध्यक्ष अनिल नांदल ने कहा कि इन तीन काले कृषि कानूनों को लेकर हर वर्ग में सरकार के खिलाफ रोष बढ़ता जा रहा है। पहले ही भाजपा-जजपा नेताओं का बहिष्कार किया जा चुका है और अगर 26 जनवरी को सरकार के किसी भी नेता ने प्रदेश में तिरंगा फहराने का प्रयास किया तो इसके गंभीर परिणाम सरकार को भुगतने पड़ेगे। उन्होंने कहा की किसान इतनी ठंड में लगातार आंदोलनरत है, लेकिन इस गूंगी बहरी सरकार के कानों पर जूं तक नहीं रेंग रही।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।