नई शिक्षा नीति कश्मीर के युवाओं का भविष्य निर्माण करेगी: डॉ निशंक

0
Nation will be at the pinnacle of progress with hackathon Nishank

प्रधानमंत्री का लक्ष्य-कश्मीर को विकास की मुख्यधारा में जोड़ना

नई दिल्ली। केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति आने के बाद उन्हें पूरा विश्वास है कि अब यहां का युवा हथियार या पत्थर नहीं बल्कि लैबोरेट्री में टूल उठाएगा और अपने भविष्य का निर्माण करेगा, वह स्किल और ज्ञानयुक्त होगा और नये भारत की तस्वीर उसकी योग्यताओं से निर्मित होगी। डॉ निशंक ने जम्मू विश्वविद्यालय में आयोजित नई शिक्षा नीति के कार्यान्वयन पर आयोजित सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि हम सभी जानते हैं कि जम्मू-कश्मीर की परिस्थितियां बिल्कुल भिन्न हैं।

यहां तीन सभ्यता रही हैं, तीन अलग-अलग भौगोलिक परिस्थितियां, तीन अलग संस्कृतियां रही हैं। इसके अलावा जम्मू-कश्मीर ने बहुत सारी चुनौतियों का सामना किया है लेकिन अब एक बैनर तले विकास एवं प्रगति के मार्ग पर हम तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। चाहे सड़कों का विकास हो या फिर नये संस्थानों की स्थापना, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का लक्ष्य है कि जम्मू-कश्मीर को विकास की मुख्यधारा से जोड़ा जाए।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।