राशन डिपुओं में महिलाओं को हिस्सेदारी देने की जरूरत : दुष्यंत

0
Need to give women share in ration depot Dushyant

अगले साल नियमों में बदलाव करके किया जाएगा प्रावधान

(Women Share in Ration Depot)

सच कहूँ/संजय मेहरा गुरुग्राम। उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत सिंह चौटाला ने कहा कि प्रदेश में राशन डिपुओं में महिलाओं को (Women Share in Ration Depot) हिस्सेदारी देने की जरूरत है और इसके लिए अगले साल नियमों में बदलाव करके प्रावधान किया जाएगा, जिससे महिलाएं और सशक्त होंगी। वे शनिवार को गुरुग्राम के सेक्टर-10ए में जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के जिला कार्यालय के उद्घाटन अवसर पर बोल रहे थे।

उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि गुरुग्राम में खोले के पार्टी कार्यालय का साप्ताहिक शेड्यूल बनाया जाएगा। कार्यालय के माध्यम से आम जनता की छोटी-छोटी समस्याओं जैसे आधार कार्ड बनवाना, राशन कार्ड बनवाना या डोमिसाइल अथवा जाति प्रमाण पत्र आदि बनवाने में आने वाली सरकारी प्रक्रिया की बाधाओं को समाप्त करके लोगों को सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के युवाओं के लिए प्राइवेट सेक्टर में 75 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान कर दिया गया है। इसका मतलब यह नहीं है कि पहले से लगे दूसरे प्रदेशों के लोगों को हटाया जाएगा, बल्कि आरक्षण का प्रावधान होने के बाद जितने रोजगार सृजित होंगे, उनमें प्रदेश के युवाओं को 75 प्रतिशत आरक्षण मिलेगा।

पंचायती राज संस्थाओं में राइट-टू रिकॉल

उन्होंने कहा कि पंचायती राज संस्थाओं में राइट-टू रिकॉल का प्रावधान कर दिया गया है, जो कि पूर्व उप-प्रधानमंत्री स्वर्गीय चौधरी देवीलाल का एक सपना था। वे कहा करते थे कि जिस पंचायत सदस्य को आप चुनकर भेजते हैं, यदि वह सही ढंग से गांव के विकास के लिये काम नहीं कर रहा है तो उसे वापस बुलाने का अधिकार भी होना होना चाहिए। अब अगर पंचायत चुनाव के एक साल बाद गांव के 50 प्रतिशत या इससे अधिक मतदाता लिखित में देंगे कि हम राइट टू रिकॉल का प्रयोग करना चाहते हैं तो दोबारा से मतदान करवाया जाएगा। उसमें दो तिहाई मतदाता किसी सदस्य के खिलाफ मतदान करके उसे वापस बुला सकते हैं अर्थात उसकी सदस्यता समाप्त हो जाएगी।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।