पंजाब

नवजोत सिद्धू ने फिर साधा फास्ट-वे पर निशाना

Navjot Singh Sidhu, Target, Fastway, Government, Punjab

मुझे चोर की मां को मारना है: सिद्धू

  • कंपनी पर लगाया दो हजार करोड़ का घोटाला करने का आरोप
  • टैक्स चोरी का एक-एक पैसा वसूल करेगी सरकार

चंडीगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। पंजाब के स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू एक बार फिर केबल टीवी कंपनी ने फास्ट वे पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि पंजाब में केबल कंपनी फास्ट वे ने सरकार को दो हजार करोड़ रुपये का चूना लगाया है। उन्होंने कहा, मुझे चोर की मां को मारना है और टैक्स चोर को पाताल से भी निकाल लाऊंगा। यह कंपनी अब तक राज्य में मनमानी करती रही है और टैक्स की चोरी कर रही है। ट्राई ने भी इस पर सवाल उठाया है।

भारत सरकार को भी लिखा

नवजोत सिंह सिद्धू बुधवार को यहां पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि केबल टीवी कंपनी फास्ट वे अपनी मनमानी करती रही है। वह टैक्स की चोरी करती रही है। ट्राई ने भी भारत सरकार को लिखा है कि पंजाब में केबल कारोबार में मोनोपली है।

प्रदेश भर में चल रहे 80 लाख कनेक्शन

उन्होंने कहा कि फास्ट वे के पास अभी 80 लाख कनेक्शन हैं। फास्ट वे को तत्कालीन अकाली दल सरकार का संरक्षण प्राप्त था। फास्ट वे के पूरे खेल और टैक्स चोरी करने के बारे में अकाली सरकार को भी पता था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई।
सिद्धू ने कहा कि जिन केबल आपरेटरों ने फास्ट वे के समक्ष घुटने नहीं टेके। उनके पर फर्जी मुकदमे करवाए। उन्होंने कहा कि वह चुराए गए टैक्स की रकम हर हाल में वसूल करेंगे। मैंने पूरे मामले की जानकारी मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को दे दी है। गेंद अब सीएम के पाले में हैं।

नया मुसलमान अल्लाह अल्लाह करता है: बादल

‘जो नया मुसलमान बनता है वह ज्यादा अल्लाह अल्लाह करता है’ यह कहना था पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल का जो नवजोत सिंह सिद्धू के केवल माफिया के ऊपर दिए गए बयान पर टिप्पणी कर रहे थे। प्रकाश सिंह बादल के अनुसार हर तरह की जांच करना इनका अधिकार है और हमें कोई भी एतराज नहीं है। यदि यह किसी के विरुद्ध कार्रवाई करते हैं या जांच करवाते हैं। मुख्यमंत्री इन्हें आॅडिट की इजाजत देते हैं या यह कैबिनेट में आॅर्डिनेंस लाते हैं यह इनका आंतरिक मामला है लेकिन किसी पर बिना सबूत आरोप लगाने का अधिकार इन्हें किसने दिया। बादल ने कहा कि यह दलबदलू लोग हैं। सिद्धू वित्त मंत्री अरुण जेटली को अपना राजनीतिक गुरु मानते हैं पर चुनाव में उनकी पीठ पर ही सिद्धू ने छुरा घोंपा है। जिस पार्टी ने इन्हें सांसद बनाया उसी पार्टी को इन्होंने धोखा दिया है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top

Lok Sabha Election 2019