हैकथन से राष्ट्र प्रगति के शिखर पर होगा: निशंक

0
Nation will be at the pinnacle of progress with hackathon Nishank
नयी दिल्लीl केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने कहा है कि कोरोना काल में देश को ‘आत्मनिर्भर’ बनाने के लिए ‘हैकथन’ के जरिये प्रगति के शिखर पर ले जाएंगे। डॉ निशंक ने शनिवार को यहां वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पहली बार हो रहे ऑनलाइन हैकथन के ग्रैंड फाइनल को लॉन्च करते हुए यह बात कही । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम 4:00 बजे इस ऑनलाइन हैकथन (सॉफ्ट वेयर) के ग्रैंड फाइनल को संबोधित करेंगे । डॉ निशंक ने कहा कि हैकथन प्रतियोगिता से कम समय में यानी केवल 36 घंटे में केंद्र सरकार के विभिन्न मंत्रालय, राज्य सरकार के विभागों और उद्योग जगत की समस्याओं को सुलझाया जाएगा । यह हमारे लिए अत्यंत खुशी का क्षण है कि हम देश में फैली कोरोना महामारी के बीच इस प्रतियोगिता को आयोजित कर रहे हैं जिसमें हजारों छात्र भाग ले रहे हैं ।
उन्होंने कहा कि इस प्रतियोगिता के जरिये हम देश की समस्याओं को सुलझाएंगे और पहले भी इस प्रतियोगिता के जरिये हमने कई समस्याओं को सुलझाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि हैकथन से छात्र-छात्राओं के बीच प्रतिस्पर्धा का भाव बढ़ा है और देश की समस्याओं को सुलझाने का एक जज्बा भी पैदा हुआ है। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए यह एक सुंदर मंच साबित हो रहा है और इससे आज से हम राष्ट्र को प्रगति के शिखर पर ले जाएंगे।  इस लांच समारोह को शिक्षा राज्य मंत्री संजय धोत्रे, उच्च शिक्षा सचिव अमित खरे और अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद के अध्यक्ष अनिल सहस्त्रबुद्धे आदि ने भी सम्बोधित किया। गौरतलब है कि कोरोना काल में लॉकडाउन के दौरान स्मार्ट इंडिया हैकथन कार्यक्रम ऑनलाइन आयोजित किया जा रहा है जो एक अगस्त से तीन अगस्त तक चलेगा। यह चौथा स्मार्ट इंडिया हैकथन है जिसके फाइनल में 10,000 से अधिक प्रतिभागी 26 घंटे तक तक समस्याओं का डिजिटल समाधान निकालेंगे ।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।