Breaking News

हिस्ट्रीशीटर महेन्द्र गोदारा की गोलीमार हत्या

Murder, History Sheeter, Shot Dead, Firing, Criminal Gang, Police, Rajasthan

दो गाड़ियों में सवार बदमाशों ने की फायरिंग

हनुमानगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। प्रदेश में इन दिनों चल रहा आनंदपाल एनकाउंटर मामला अभी शांत भी नहीं हुआ कि एक और चुरु में एक और मर्डर हो गया। जिला चूरू के कोतवाली थाने के हिस्ट्रीशीटर महेन्द्र गोदारा की सोमवार देर रात कड़वासर गांव में अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। घटना करीब रात 11 बजे हुई। फायरिंग की आवाज सुन क्षेत्र में दहशत फैल गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर राजकीय डेडराज भरतीया अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया। सुरक्षा की दृष्टि से अस्पताल के दोनों रास्तों पर बैरीकेडिंग करवा दी गई है और भारी पुलिस जाब्ता तैनात कर दिया गया।

अस्पताल में परिजनों सहित समाज के करीब दो सौ लोग एकत्र हो गए। पुलिस के मुताबिक गोदारा कड़वासर के पास स्थित खुद की होटल से बाइक पर सवार होकर कड़वासर की तरफ जा रहा था। कड़वासर बस स्टैंड पहुंचते ही दो गाड़ियों में सवार होकर आए बदमाशों ने गोदारा पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। गोदारा के करीब पांच गोलियां लगी सूचना पर सदर पुलिस, कोतवाली पुलिस व दूधवाखारा पुलिस मौके पर पहुंच गई। डीएसपी हूकमसिंह रात को ही घटना स्थल पर पहुंचकर मौके का मुआयना किया। सूचना मिलने पर देर रात एएसपी केसरसिंह शेखावत अस्पताल पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने बताया कि महेन्द्र गोदारा कोतवाली थाने का बड़ा हिस्ट्रीशीटर था।

कौन है महेन्द्र गोदारा

सहजूरसर निवासी महेन्द्र गोदारा (28) पुत्र गोपाल गोदारा पिछले कई सालों से अपराध की दुनिया में पैर जमा रहा था। छोटी से उम्र में ही लूट, मारपीट तथा आर्म्स एक्ट सहित अनेक धाराओं में करीब 34 मामले दर्ज हैं। कई बार जेल भी जा चुका है लेकिन जमानत पर रिहा कर दिया जाता था। इससे दिनों-दिन अपराध जगत में उसके कदम बढ़ते जा रहे थे।

आरोपितों की गिरफ्तारी पर अड़े परिजन

गोदारा के परिजनों ने हत्या में शामिल कुछ नामजद आरोपितों की रिपोर्ट थाने में दी है। आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग पर परिजन अड़े हैं। उनका कहना है कि जब तक आरोपित गिरफ्तार नहीं होंगे तब तक शव का ना तो पोस्टमार्टम करवाएंगे और ना ही शव लेंगे।

आरोपितों के ठिकानों पर दबिश

वहीं पुलिस की टीम नामजद आरोपितों के घरों व ठिकानों पर दबिश दे रही है। इसके लिए कई टीम रवाना की गई है। लेकिन दोपहर तक एक भी आरोपित पकड़े नहीं गए। पुलिस ने रात को भी जगह-जगह नाकाबंदी करवाई थी। लेकिन आरोपितों का कोई सुराग नहीं लगा।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top

Lok Sabha Election 2019