Breaking News

13वें राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का विदाई समारोह आज

Farewell, Pranab Mukherjee, Ceremony, Narendra Modi, Sumitra Mahajan

नई दिल्ली: 13वें राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल 24 जुलाई को खत्म हो रहा है। आज राष्ट्रपति भवन के सेंट्रल हॉल में उनका फेयरवेल (Farewell) प्रोग्राम होगा। इस प्रोग्राम के लिए पार्लियामेंट मेंबर्स ने तैयारी की है। माना जा रहा है कि ये एक शानदार विदाई होगी। लेकिन, 55 साल पहले जिस तरह से देश के पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद को विदाई दी गई, वैसी अब तक किसी को नहीं मिली। शाम 5.30 मिनट पर प्रणब मुखर्जी का फेयरवेल प्रोग्राम शुरू होगा और ये करीब आधे घंटे तक चलेगा। इस प्रोग्राम में लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी मौजूद रहेंगे। दोनों फेयरवेल के दौरान स्पीच देंगे। नरेंद्र मोदी भी इस प्रोग्राम में मौजूद रहेंगे।

13 राष्ट्रपतियों को नहीं मिली राजेंद्र प्रसाद जैसी विदाई | Farewell

  • 10 मई 1962 में रामलीला मैदान (दिल्ली) में हजारों लोग देश के पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद को विदाई देने के लिए पहुंचे।
  • प्रणब समेत 13 राष्ट्रपतियों को ऐसी विदाई नहीं मिली।
  • राजेंद्र प्रसाद को प्रेसिडेंट पोस्ट से रिटायर होने पर 1100 रुपए की पेंशन मिली।
  • भारत-चीन युद्ध के समय अपनी पत्नी की ज्वेलरी डोनेट कर दी थी।
  • राजेंद्र प्रसाद गांधीजी के रास्ते पर चले और उन्होंने हमेशा सादा जीवन जिया।
  • 28 फरवरी 1963 को उनकी मृत्यु हो गई।
  • राष्ट्रपति बनने से पहले प्रणब का 50 साल का पॉलिटिकल करियर रहा।
  • 14 साल तक संसद के दोनों सदनों का नेतृत्व किया।
  • 4 प्राइम मिनिस्टर्स के साथ काम किया।
  • कोविंद दो बार राज्यसभा के मेंबर रहे।
  • प्रणब मुखर्जी करीब 43 साल तक पार्लियामेंट मेंबर रहे और 22 साल तक मिनिस्टर की पोस्ट पर रहे।
  • 28 साल तक वे कांग्रेस वर्किंग कमेटी के मेंबर रहे।
  • अपने कार्यकाल के दौरान प्रणब मुखर्जी ने 32 दया याचिकाओं पर फैसला किया, इनमें से कुछ 2000 से अटकी थीं।
  • कसाब को 2012, अफजल गुरू को 2013 और याकूब मेमन को 2015 में फांसी दी गई।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top

Lok Sabha Election 2019