देश में पिछले वर्ष 50 लाख से अधिक लोग विस्थापित हुए: संयुक्त राष्ट्र

0
People Displaced

नयी दिल्ली। भीषण चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ के कारण पश्चिम बंगाल और ओडिशा में काफी संख्या में लोगों के विस्थापन की रिपोर्टों के बीच संयुक्त राष्ट्र की ओर से जारी रिपोर्ट सामने आई है जिसमें पिछले वर्ष 2019 में देश में प्राकृतिक आपदा, संघर्ष और हिंसा की घटनाओं की वजह से 50 लाख से अधिक लोगों के आंतरिक रूप से विस्थापित होने की जानकारी दी गयी है। संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनीसेफ) की ‘लॉस्ट ऐट होम’ शीर्षक वाली रिपोर्ट में बताया गया है कि पिछले वर्ष समूचे विश्व में विस्थापन के करीब 330 लाख नये मामले दर्ज किये गये।

इनमें लगभग 250 लाख विस्थापन प्राकृतिक आपदा तथा 80.5 लाख मामले संघर्ष और हिंसा की घटनाओं से जुड़े थे। रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 2019 में 50,37,000 आंतरिक विस्थापन के दर्ज आंकड़ों में 50,18,000 मामले प्राकृतिक आपदा तथा 19,000 मामले संघर्ष और हिंसा की घटनाओं से जुड़े थे। यूनीसेफ की रिपोर्ट के मुताबिक भारत, फिलीपींस और चीन प्राकृतिक आपदाओं से बहुत ज्यादा त्रस्त हैं जिसके कारण लाखों की संख्या में लोगों को विस्थापित किया जाता है। इन देशों में प्राकृतिक आपदा से विस्थापन के मामले विश्व का 69 प्रतिशत है।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।